प्रेमी युगल का सिर मुंडवाया चेहरा काला कर पहनाई जूतों की माला, फिर किया ये

प्रेमी युगल का सिर मुंडवाया चेहरा काला कर पहनाई जूतों की माला, फिर किया ये

कन्नौज के गुरसहायगंज के एक गांव में रहने वाली तीस वर्षीय महिला के पति की कुछ वर्षों पूर्व मौत हो गई थी। पति की मौत के बाद गांव का ही एक दिव्यांग युवक उसके घर आने जाने लगा। दिव्यांग होने के चलते घर वालों और गांव वालों ने पहले उनकी बातचीत पर ध्यान नहीं दिया। दोनों के बीच बतचीत का सिलिसला प्यार में बदल गया। गांव वालों की मानी जाए तो दोनों के बीच करीब एक साल से प्रेम प्रसंग चल रहा है। दोनों को अक्सर गांव के बाहर भी मिलते देखा गया है, कई बार दोनों को अकेले खेतों में भी गांव के युवाओं ने देखकर डांटकर भागाया भी है।

कन्नौज के गुरसहायगंज के एक गांव में बुधवार को ग्रामीण युवाओं ने अमानवीयता की हदें पार कर दीं। प्रेमी युगल के आपत्तिजनक हालत में पकड़े जाने के बाद उनका सिर मुंडवाकर चेहरे पर कालिख लगा दी और जूते-चप्पल की माला पहनाकर पूरे गांव में घुमाया। उनके पीछे चले बड़े से लेकर बच्चे तक तरह तरह की फब्तियां भी कसते रहे। सोशल मीडिया पर इस घटना का वीडियो वायरल होने के बाद लोगों को घटना की जानकारी हो सकी। हालांकि पुलिस ने घटना की जानकारी से इन्कार किया है, वहीं प्रधान ने जानकारी होते ही तुरंत गांव पहुंचकर ग्रामीणों को फटकार लगाते हुए प्रेमी युगल को उनके घर भिवजाकर पंचायत शुरू कराई है।

ग्राम प्रधान के मुताबिक उन्हें जैसे ही घटना की जानकारी हुई तो वह गांव पहुंच गए हैं। इस तरह का अमानवीय कृत्य करने वालों को जमकर फटकार लगाई है। महिला और युवक काे उनके घरों में भेज दिया गया है। दोनों को लेकर गांव में उनके परिवारों के बीच पंचायत चल रही है। वहीं थाना पुलिस ने घटना की जानकारी से इन्कार करते हुए जांच कराकर कार्रवाई करने की बात कही है। एसएसआई जितेन्द्र पाल सिंह ने बताया कि मामले की पूरी जानकारी नहीं है उप निरीक्षक आरके मिश्रा को मौके पर भेजा गया है जानकारी मिलने के बाद संबंधित लोगों के खिलाफ कार्रवाई अमल में लाई जाएगी।

मंगलवार की रात दिव्यांग प्रेमी मौका पाकर महिला के घर पर पहुंच गया था। भोर पहर दोनों को एक ही चारपाई पर आपत्तिजनक हालत में देखकर ग्रामीण युवाओं ने पकड़ लिया। इसकी जानकारी होते ही गांव वालों की भीड़ लग गई। युवाओं ने अपास में फैसला करने के बाद प्रेमी और प्रेमिका के सिर जबरन मुंडवा दिए और उनके चेहरे पर कालिख लगाकर जूते की माला पहना दी। इसके बाद दोनों को सरेआम गांव की गलियाें घुमाना शुरू कर दिया। हद तो तब हो गई जब उनके पीछे चल रहे बड़े और बच्चे भी फब्तिया कसते नजर आए। इस पूरे घटनाक्रम का वीडियो सोशल मीडिया पर वायरल हुआ तब लोगों को जानकारी हो सकी है। हैरानी की बात यह है कि इस अमानीयव कृत्य काे रोकने के लिए गांव के बड़े बुजुर्ग भी आगे नहीं आए।