7 साल की बच्ची को तलाश रहे इतने पुलिसकर्मी, जानें क्या हुआ ऐसा

7 साल की बच्ची को तलाश रहे  इतने पुलिसकर्मी, जानें क्या हुआ ऐसा

गुजरात के सूरत शहर में एक सौतेली मां की क्रूरता सामने आई है। मां की क्रूरता और मारपीट से तंग आकर एक बच्ची ने ऐसा कदम उठा लिया कि पुलिस के भी पसीने छूट गए। 

शहर के हाउसिंग बोर्ड के पास जलाराम सोसाइटी के एक मकान में दगड़ू रणसिंगे पत्नी और 7 साल की बेटी के साथ रहते हैं। कल शाम को माया ने घर के बर्तन साफ नहीं किए तो सौतेली मां ने उसकी पिटाई कर दी। इसी बात से दुखी होकर बच्ची अचानक गायब हो गई। पड़ताल में सामने आया कि करीब 10 दिन पहले ही बच्ची माया अपने ननिहाल से यहां रहने आई थी।

दरअसल, गुजरात के सूरत के पांडेसरा इलाके से एक 7 साल की बच्ची के लापता होने की घटना सामने आई है। जानकारी में सामने आया कि बर्तन धोने के लिए उसकी सौतेली मां ने बच्ची को पीटा तो टॉयलेट जाने के बहाने वह घर से भाग गई। जब बाद में आसपास खोजने के बाद भी बच्ची नहीं मिली तो परिवार वालों ने थाने में गुमशुदगी की रिपोर्ट दर्ज कराई। अब पुलिस अधिकारी समेत 200 से अधिक पुलिसकर्मी बच्ची की तलाश में जुटे हुए हैं और जगह-जगह के सीसीटीवी फुटेज खंगालने में लगे हुए हैं।


 इससे पहले वह परवत गांव में अपने नाना के यहां रहती और आंगनबाड़ी में पढ़ती थी। जानकारी में सामने आया कि माया 4 महीने पहले भी लापता हो गई थी। तब 13 अप्रेल को उसे रामनगर से खोजकर चिल्ड्रन होम में रखा गया था।

पुलिस ऑटो में लाउडस्पीकर लगाकर अनाउंस भी करवा रही है। देर शाम पुलिस को सूचना मिली कि बच्ची वीआईपी रोड पर है। जिसके बाद वहां भी तलाशी अभियान चलाया गया।


बच्ची के वीआईपी रोड पर होने की सूचना, 200 से ज्यादा पुलिसकर्मी कर रहे तलाश पुलिस ने बच्ची के अपहरण की आंशका से भी इंकार नहीं किया है और इस आधार पर उच्च पुलिस अधिकारी समेत 200 से अधिक पुलिसकर्मी उसकी तलाश में जुटे हुए है।