पुरवामीर चौकी प्रभारी नीरज बाबू की सूझबूझ से 80 लाख का घोटला बचा

पुरवामीर चौकी प्रभारी नीरज बाबू की सूझबूझ से 80 लाख का घोटला बचा

पुरवामीर चौकी प्रभारी नीरज बाबू की सूझबूझ से 80 लाख का घोटला बचा
पुरवा मीर चौकी इंचार्ज नीरज बाबू की सूझ बूझ से 80 लाख का घोटाला होने से बचा महाराजपुर थाना अंतर्गत पुरवा मीर चौकी क्षेत्र मे आने वाले डोमनपुर ग्राम सभा मे हो रहे अवैध सागौन पेड़ो की कटाई कार्य चल था जिससे जानकारी मिलने पर पहुचे पुरवा मीर चौकी इंचार्ज नीरज बाबू अपने मय फ़ोर्स के साथ पहुंच कर पेड़ो की कटाई का कार्य रुकवा दिया यदि पुलिस मौके पर नहीं पहुंचती तो फिर आरोप लगता कि पुलिस ने पैसा खाया होगा और लकड़ी पार करवा दी। अब जब पुलिस ने इतना बड़ा घोटाला पकड़ लिया तो उल्टे आरोप लगाए जा रहे है वाह भइया क्या बात है। जानकारी के मुताबिक परमिशन दो साल पहले की है जो मान्य नहीं होती है और कई तरह के मानक होते है लकड़ी काटने के जो पूरे नहीं है। इसमें पूरी तरह वन विभाग के अधिकारी शामिल है इसमें उच्चाधिकारियों द्वारा जांच करके कार्यवाही करनी चाहिए क्यों की वन विभाग लगातार कई इलाकों में लकड़ी की अवैध कटान के करवाते है जिसके साक्ष्य है और लकड़ी माफियाओं की सांठ गांठ से लगातार हरे वृक्ष काटे जा रहे है जिनपर लगाम लगना जरूरी है तथा पुरवा मीर क्षेत्र में चौकी प्रभारी नीरज बाबू द्वारा अवैध कटान पर लगातार लगाम लगाई जा रही है जिसके खुन्नस में आरोप लगाए जा रहे है।