ओवैसी ने यूपी पुलिस को दी धमकी, बोले हमेशा योगी मुख्यमंत्री और मोदी प्रधानमंत्री नही रहेंगे

ओवैसी के विवादित बयान
 
विवादित बयान
ओवैसी

ऑल इंडिया मजलिस-ए-इत्तेहादुल मुस्लिममीम चीफ असदुद्दीन ओवैसी का एक विवादित वीडियो सोशल मीडिया में वायरल हो रहा है। इसमें वह एक जनसभा को संबोधित करते हुए यूपी पुलिस को धमकी भरे लहजे में चेतावनी देते हुए नजर आ रहे हैं। 

ओवैसी मंच से कहते हैं, 'मैं तो उन पुलिस के लोगों से कहना चाहता हूं, याद रखना मेरी बात को। हमेशा योगी मुख्यमंत्री नहीं रहेगा और हमेशा मोदी प्रधानमंत्री नहीं रहेगा। हम मुसलमान वक्त के तिमार से खामोश जरूर हैं, मगर याद रखो हम तुम्हारे जुल्म को भूलने वाले नहीं हैं। हम तुम्हारे जुल्म को याद रखेंगे। अल्लाह... अपनी ताकत के जरिए तुम्हारी अंतिम को नेस्तनाबूद करेंगे। और हम याद रखेंगे। हालात बदलेंगे। जब कौन बचाने आएगा तुमको? जब योगी अपने मठ में चले जाएंगे, मोदी पहाड़ों में चले जाएंगे। जब कौन आएगा? हम नहीं भूलेंगे।'  

ओवैसी के इस बयान पर भारतीय जनता पार्टी ने पलटवार किया है। भाजपा के राष्ट्रीय प्रवक्ता शहजाद पूनावाला ने कहा, 'छोटा ओवैसी पुलिस को 15 मिनट हटाने को बोलता है और हिंदुओं को धमकी देता है। बड़ा ओवैसी पुलिस को खुलेआम धमकी देता है। हरिद्वार पर बोलने वाले सेक्युलरिज्म के सारे सूरमा इस जिन्ना वाली मानसिकता पर खामोश हैं। क्योंकि हिंदुओं को धमकी देने वाला सेक्युलर है और जय श्री राम का नाम लेना कम्युनल।'

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ के मीडिया सलाहकार ने भी ओवैसी पर निशाना साधा। ओवैसी के इस वीडियो को ट्विट कर लिखा, 'गिद्धों के कोसने से गाएं नहीं मरती ओवैसी साहब, ताकत तो प्रभु राम ने दिखा दी है अपनी, भोलेनाथ ने दिखा दी है अपनी, कोई भी गलती की तो 'गिद्धों' का भरपूर इलाज होगा इस बार।' 

असदुद्दीन ओवैसी 12 दिसंबर को कानपुर के दौरे पर आए थे। यहां उन्होंने GIC ग्राउंड, लाल इमली चौराहा पर शोषित वंचित समाज सम्मेलन को संबोधित किया था। इस दौरान उन्होंने ये भड़काऊ भाषण दिया था। 11 दिन बाद उनका ये बयान वारयल हो रहा है। करीब 45 मिनट के भाषण के 40 मिनट बाद उन्होंने पुलिस को धमकी भरे अंदाज में चेतावनी दी।

उन्होंने पुलिस के कथित जुल्मों को गिनाते हुए ओवैसी बोले, 'हमारी दाढ़ी तुम्हें नफरत क्यों है, 80 साल के बूढ़े से तुम ये हरकत करते हो, मैं पुलिस के उन लोगों से कहना चाहता हूं, याद रखो इस बात को  कि हमेशा योगी मुख्यमंत्री नहीं रहेगा, हमेशा मोदी प्रधानमंत्री नहीं रहेगा, याद रखो हम तुम्हारे जुल्म को भूलने वाले नहीं हैं, हम तुम्हारे जुल्म को याद रखेंगे। हम याद रखेंगे, हालात बदलेंगे, जब कौन बचाने आएगा तुमको, जब योगी अपने मठ में चलें जाएंगे, मोदी पहाड़ों में चले जाएंगे, जब कौन आएगा। हम नहीं भूलेंगे, हम याद रखेंगे।'