The Great Khali के बाद Veer Mahaan भी WWE World Championship जीत सकते है।

 
Th

WWE Raw में भारतीय रैसलर वीर महान का जलवा है. वीर महान की भुजाओं में इतनी ताकत है कि बड़े-बड़े नामी पहलवानों को वह पटक-पटक के मारते हैं. जब वीर महान से किसी रैसलर का सामना होता है तो मैच से पहले ही उसकी हालत पतली हो जाती है. 


गले में रुद्राक्ष की माला, माथे में तिलक, सिर में जटा और छाती में हिंदुस्तानी कलेजा रखने वाले वीर महान ऐसे ही WWE नहीं पहुंचे हैं. इस मुकाम तक पहुंचने के लिए उन्होंने जीवन भर संघर्ष और कठिन परिश्रम किया है। तभी तो आज उन्हें मिली कामियाबी के आगे दुनिया सिर झुका रही है और भारतीयों का सिर गर्व के ऊंचा हो गया है. 

WWE Raw में हुई वीर महान की एंट्री 

WWE WrestleMania में Raw में वीर महान का डेब्यू हुआ है. इससे पहले भी वो WWE में रैसलर ही थे लेकिन अब उनकी एंट्री RAW में हुई है. ऐसा कहा जा रहा है कि The Great Khali के बाद Veer Mahaan भी WWE World Championship जीत सकते हैं. वीर महान गरीब परिवार से ताल्लुख रखते हैं 
WWE wrestler Veer Mahaan Family Background: वीर महान का जन्म 8 अगस्त, 1988 में उत्तर प्रदेश के गोपीगंज में हुआ था. वीर महान का असली नाम रिंकू सिंह है. रिंकू सिंह से WWE के बड़े फैन थे और उन्हें भी बड़े होकर रैसलर बनना था. लेकिन उनके पिता उन्हें अमेरिका जैसे महंगे देश भेजने में समर्थ नहीं थे. काफी जिद के बाद घर वालों ने पैसे जुटाए और अपने बेटे रिंकू सिंह को रैस्लिंग की ट्रेनिंग लेने के लिए US भेज दिया। और यहीं से गोपीगंज के रिंकू सिंह से WWE के रैसलर वीर महान बनने का सफर शुरू हुआ था. 

वीर महान की एंट्री दिल को छु लेने वाली होती है. काले कपडे में बज्र जैसा विशाल शरीर, हाथ में रुद्राक्ष की माला धारण किए वीर महान रिंग में आने से पहले नमस्ते करते हैं. यही भारतीयता की सादगी की पहचान होती है. अपने प्रतिद्वंदी  को झुककर पहले सम्मान देना और बाद में उसकी को झुका कर जीतना यह कहीं और देखने को नहीं मिल सकता। 

रैस्लिंग के कारण बेस बॉल छोड़ दिया 
बहुत से लोगों को यह मालूम नहीं होगा कि वीर महान WWE और रैस्लिंग की दुनिया में आने से पहले अमेरिका में प्रोफेशनल बेसबॉल प्लेयर थे. उन्होंने अमेरिका में कई बार प्रोफेशनल बेसबॉल लीग में हिस्सा लिया है. वो चाहते तो US में बतौर Baseball प्लेयर के रूप में अच्छा नाम कमा सकते थे. बेसबॉल स्पोर्ट्स में अच्छी सफलता मिलने के बाद भी उन्होंने रैस्लिंग को चुना 
उनके पिता ट्रक ड्राइवर थे 
वीर महान का बचपन गरीबी और संघर्ष से गुजरा था, लेकिन उनके सपने बहुत बड़े थे. और आज उन्होंने अपने सपनों को साकार भी किया है. उनके पिता पेशे से ट्रक ड्राइवर थे, और उन्हें अमेरिका में रहने का खर्चा देने में असक्षम थे. फिर भी अपने बेटे रिंकू के सपनों को पूरा करने के लिए उन्होंने अपनी पूरी पूंजी दे दी. और आज उसका परिणाम आपके सामने हैं.