IAS पूजा सिंघल, जिसके 25 ठिकानों पर छापे; मिले 20 करोड़ रुपये।

 
पूजा

Pooja Singhal IAS पूजा सिंघल आइएएस, झारखंड के यहां आज सुबह से ही प्रवर्तन निदेशालय की कार्रवाई चल रही है। उनके 25 ठिकानों पर ताबड़तोड़ छापेमारी हो रही है। ताजा जानकारी के मुताबिक उनके सीएम सुमन सिंह के घर से 20 करोड़ रुपये नगद मिले हैं। जिसे मशीन से गिना गया। इधर सीएम हेमंत सोरेन ने ईडी की छापेमारी को गीदड़ भभकी कहा है। झारखंड कैडर की वरिष्ठ आईएएस अधिकारी पूजा सिंघल को झारखंड के मुख्‍यमंत्री हेमंत सोरेन का करीबी माना जाता है। पूजा सिंघल वर्तमान में खान और भूविज्ञान विभाग की सचिव और झारखंड राज्य खनिज विकास निगम लिमिटेड (जेएसएमडीसी) की प्रबंध निदेशक हैं।

बहुचर्चित मनरेगा घोटाले की जांच कर रहे प्रवर्तन निदेशालय (ईडी) ने शुक्रवार को बड़ी कार्रवाई की है। ईडी ने मनरेगा घोटाले के वक्त खूंटी की तत्कालीन उपायुक्त सह वर्तमान में झारखंड सरकार की खान एवं उद्योग विभाग की सचिव आइएएस अधिकारी अधिकारी पूजा सिंघल व उनके सहयोगियों से जुड़े पांच राज्यों के 25 ठिकानों पर एक साथ छापेमारी की। ईडी सूत्रों के अनुसार इस छापेमारी में शुक्रवार की शाम तक पूजा सिंघल के सीए सुमन सिंह के रांची के बूटी मोड़ में हनुमान नगर स्थित आवास से 19.31 करोड़ रुपये नकदी, अन्य ठिकानों से कई महत्वपूर्ण दस्तावेज मिले हैं, जिसकी समीक्षा की जा रही है। करीब 150 करोड़ की बेहिसाब संपत्ति से संबंधित दस्तावेज भी मिले हैं, जिसकी छानबीन जारी है।

ईडी की टीम मनरेगा घोटाले के साथ-साथ आइएएस पूजा सिंघल के पूरे कार्यकाल की जांच कर रही है, जिसमें कई जिलों के उपायुक्त के कार्यकाल के वक्त के विवादित मामले भी हैं। झारखंड उच्च न्यायालय में दायर शपथ पत्र में ईडी ने इसका जिक्र भी किया था।ईडी की यह छापेमारी सभी 25 ठिकानों पर शुक्रवार की सुबह करीब सात बजे एक साथ शुरू हुई है। ये ठिकाने झारखंड के रांची, राजस्थान के जयपुर, पश्चिम बंगाल के कोलकाता, बिहार के मुजफ्फरपुर व दिल्ली एनसीआर में हैं।

रांची में कांके रोड के चांदनी चौक स्थित पंचवटी रेजिडेंसी के फ्लैट नंबर 904, लालपुर के हरिओम टावर स्थित नई बिल्डिंग, बरियातू के पल्स अस्पताल, पूजा सिंघल के सरकारी आवास, उनके पति अभिषेक झा के आवास में भी छापेमारी हुई है। राजस्थान के जयपुर में सहयोगी आरके जैन, कोलकाता में तत्कालीन एंट्री आपरेटर, दिल्ली में पूजा सिंघल के भाई, उनके चार्टर्ड अकाउंटेंट सुमन सिंह के बूटी मोड़ स्थित हनुमान नगर में भी छापेमारी हुई है। बिहार के मुजफ्फरपुर में पूजा सिंघल का ससुराल है, जहां ईडी ने तलाशी ली है। ईडी की छापेमारी शुक्रवार की देर रात तक चली, बताया जा रहा है कि शनिवार को भी तलाशी ली जाएगी।

पहले से ही बदनाम रही हैं पूजा सिंघल

एक वाकया है। तब प्रदेश में रघुवर दास की सरकार थी। रघुवर दास अमूमन हर सप्ताह सूचना भवन में जनसंवाद का आयोजन करते थे। उस दरम्यान फरियादी सीधे आकर उनसे गुहार लगाता था। एक दिन एक फरियादी आया था धनबाद से। उसने बताया कि धनबाद मार्केटिंग बोर्ड में दुकान है उसकी। अधिकारी पैसे मांगता है। बताता है कि ऊपर तक जाता है पैसा। कोई मैडम हैं रांची में पूजा सिंघल पुरवार, उनको भी पैसा पहुंचाना पड़ता है। यह संयोग था कि पूजा सिंघल उस फरियादी के एकदम बगल में उस वक्त बैठी थीं। सिंघल उस समय कृषि विभाग की सचिव थी। जब उस बुर्जुग ने अपनी बातें रखी तो पूरा कक्ष ठहाके से गूंज उठा। थोड़ी देर के लिए रघुवर भी शांत हो गए। पूजा सिंघल फर्श पर इस कदर देख रही थी, मानों धरती फट जाए और वह उसमें समा जाए।