कोरोना के बढ़ते मामलों के बीच योगी सरकार का बड़ा फैसला।

 
Corona

उत्तर प्रदेश में कोरोना संक्रमण (Corona Infection) के मामलों में अब धीरे धीरे इजाफा हो रहा है. राज्य के दिल्ली से सटे गौतमबुद्धनगर और गाजियाबाद में कोरोना के मामले ज्यादा आ रहे हैं. वहीं अब यूपी सरकार ने कोविड के बढ़ते मामलों को देखते हुए लखनऊ में आने वाले लोगों की कोरोना जांच कराने का फैसला किया है. असल में मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ( Yogi Adityanath) के जिला प्रशासन को पूरी सतर्कता बरतने के निर्देश दिए जाने के बाद जिलाधिकारी ने आगरा एक्सप्रेस-वे, रेलवे स्टेशन, बस स्टेशन, एयरपोर्ट और लखनऊ टोल प्लाजा पर टीम लगाकर कोविड जांच कराने का फैसला किया है और इसके लिए स्वास्थ्य विभाग के जांच शुरू करने को कहा है.

असल में जिले में कोरोना की स्थिति की समीक्षा करते हुए जिलाधिकारी अभिषेक प्रकाश ने जांच करने को करा है. उन्होंने स्वास्थ्य विभाग को 12 से 14, 15 से 17 वर्ष और 18 वर्ष से अधिक आयु के युवाओं को वैक्सीन लगाने के लिए अभियान चलाने के निर्देश दिए. इसके साथ ही जिलाधिकारी ने सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र के क्षेत्र में आने वाले स्कूलों में भी वैक्सीनेशन कराने को कहा है. गौरतलब है कि राज्य में कोरोना के मामलों में इजाफा हो रहा है और शनिवार को राज्य में कोरोना के 135 नए मामले सामने आए हैं.

कोविड प्रभावित इलाकों से आने वालों की होगी जांच

जिलाधिकारी के फैसले के तहत लखनऊ आने वालों की जांच की जाएगी. डीएम के फैसले के तहत कोविड प्रभावित क्षेत्रों हरियाणा, महाराष्ट्र, दिल्ली, नोएडा, गाजियाबाद और एनसीआर से आने वाले यात्रियों की जांच रेलवे और बस स्टैंड, एयरपोर्ट और टोल प्लाजा में की जाएगी. इसक साथ ही बैंकों, बीमा वित्तीय प्रबंधन संस्थानों और विदेश यात्रा करने वाले यात्रियों का विशेष रूप से टेस्ट किया जाएगा. इसके साथ ही शिक्षण संस्थानों, कॉलेजों, विश्वविद्यालयों और स्कूलों में फोकस सैंपलिंग करने के निर्देश दिए गए हैं. ताकि अगर किसी जगह पर कोरोना संक्रमण मिलता है तो तुरंत कार्रवाई की जा सके.