उरसान गांव में बीमारी के चलते घरों में लटक रहे ताले

 कानपुर देहात

सिकंदरा तहसील क्षेत्र के उरसान गांव में बीमारी के चलते घरों में ताले लटक रहे हैं। जहां पर आबादी का करीब 70% व्यक्ति बीमारी की चपेट में है वहीं स्वास्थ्य विभाग की उपेक्षा व ग्राम प्रधान तथा सफाई कर्मचारी की लापरवाही के चलते लगातार बीमारी अपने पांव पसार रही हैं।
प्राप्त जानकारी के अनुसार विकासखंड संदलपुर के गांव हथुमाए पसरी बीमारी के बाद अब उरसान गांव को बीमारी ने अपनी चपेट में ले लिया है। ग्रामीणों ने बताया कि गांव की आबादी का करीब 70% व्यक्ति मलेरिया,वायरल फीवर, डेंगू जैसी बीमारी की चपेट में है। जिसमें बीमारों में राजकिशोर कटियार पुत्र गौरीशंकर, अखिलेश पुत्र प्रकाश नारायण, कशिश देवी पुत्री अखिलेश, प्रियांशी पुत्री सुरेश, विद्यावती पत्नी राम भरोसे, अर्जित, अर्पित, मृगनयनी, विनोद आदि सहित सैकड़ों की संख्या से अधिक ग्रामीण बीमारी की चपेट में आकर निजी व सरकारी अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं।वही बीमारी की चपेट में आए कई परिवार घरों में ताला लगाकर अस्पतालों में अपना इलाज करा रहे हैं। ग्रामीणों ने संबंधित ग्राम प्रधान व सफाई कर्मचारी पर आरोप लगाते हुए बताया कि संचारी रोग नियंत्रण हेतु गांव में कोई कीटनाशक आदि का ना तो छिड़काव कराया गया और ना ही कभी साफ सफाई की जाती है। वही ग्रामीणों के अनुसार गांव में बने चिकित्सा केंद्र में तैनात महिला चिकित्सक के उपस्थिति ना होने से ग्रामीणों को काफी दिक्कतों का सामना करना पड़ रहा है। प्रभारी चिकित्सा अधीक्षक हवासपुर सिद्धार्थ वर्मा ने बताया कि गांव में फैली बीमारी कि उन्हें सूचना प्राप्त नहीं हुई है। वहीं चिकित्सा अधिकारी ए पी वर्मा ने बताया कि सूचना मिली है। जल्द ही गांव में स्वास्थ्य टीम को भेजकर चिकित्सा मुहैया कराई जाएगी।

कानपुर देहात से ब्यूरो चीफ अश्वनी शुक्ला की रिपोर्ट