अमेरिका ने जताया शोक उत्तराखंड आपदा पर, और कही ये बात

अमेरिका ने जताया शोक उत्तराखंड आपदा पर, और कही ये बात

अमेरिका ने उत्तराखंड के चमोली जिले में ग्लेशियर फटने से हुए जानमाल के नुकसान पर गहरा शोक व्यक्त किया है। अमेरिका के विदेश विभाग के प्रवक्ता नेड प्राइस ने सोमवार को एक संवाददाता सम्मेलन में कहा, “हम इस चुनौतीपूर्ण समय में अपने भारतीय मित्रों और साझीदारों के साथ हैं। हम मृतकों के परिवारों और दोस्तों के प्रति गहरी संवेदनाएं व्यक्त करते हैं। हम बचाव के प्रयासों की सफलता और घायलों के जल्द से जल्द स्वस्थ होने की कामना करते हैं।”

उत्तराखंड के पुलिस महानिदेशक अशोक कुमार ने बताया कि 26 लोगों के शव अब तक अलग-अलग जगहों से बरामद किए गए हैं। सेना, वायु सेना, आईटीबीपी और एनडीआरएफ की टीम युद्ध स्तर पर राहत एवं बचाव कार्य कर रही है। 

गौरतलब है कि रविवार को चमोली जिले के रैनी गांव में ग्लेशियर टूटने के बाद आयी जल प्रलय में 171 लोग अब भी लापता हैं। लापता लोगों में वे मजदूर भी शामिल हैं जो परियोजना स्थलों पर काम कर रहे थे।

आपदा के कारण जानने के लिए आपदा प्रबंधन विभाग ने अमेरिका की एक प्राइवेट सेटेलाइट प्लेनेट लैब से भी तस्वीरें ली हैं। यूएसडीएमए के विशेषज्ञ गिरीश जोशी ने बताया कि यह सेटेलाइट हाल ही में इस क्षेत्र से गुजरा है और तस्वीरों के आधार पर यह निष्कर्ष निकाला गया है कि इस क्षेत्र में हिमस्खलन से आपदा आई। उन्होंने बताया कि 14 वर्ग किमी क्षेत्र में हिमस्खलन हुआ, जिस वजह से यह भीषण आपदा आई।