महेंद्र का मीट नही जहर है? पुलिस को हिस्सा देकर बना रहा जहर।

 
Mahendra

महेंद्र का मीट नहीं जहर है कानपुर वासियों के लिए ही नहीं बल्कि पूरे प्रदेश के लिए अभिशाप।

पुलिस को लाखों के दलाली देकर होटल में बन रहा जहर।।

कानपुर साउथ का फेमस महेंद्र  जो पुलिस प्रशासन को लाखों रुपए महीने का देकर जहर की दुकान चलाने वाला एक पहला व्यक्ति है जो दोपहर करीबन 1:00 से 2:00 के बीच में यह इस प्रकार का जहर बनाता है जिसे देखकर लोगों की रूह तक कॉप जाएगी।।


आपको बताते चलें कि कानपुर साउथ नौबस्ता क्षेत्र में कुछ होटल वेज और नॉनवेज जो कि खाने के नाम से लोगों को जहर परोस रहे हैं । जहर परोसने का पूरा श्रेय सिर्फ और सिर्फ पुलिस प्रशासन को जाता है क्योंकि पुलिस की मिलीभगत से ही फुटपाथ पर अवैध कब्जा जमाए हुए बैठे।  यह होटल वाले जिनका प्रशासन और शासन भी कुछ बिगाड़ नहीं सकता क्योंकि कानपुर पुलिस को भरपूर दलाली यह जहर बेचने वाले होटल के मालिक देते हैं। 

ऐसे में उत्तर प्रदेश को करप्शन मुक्त बनाने वाली योगी सरकार इन माफियाओं पर कब्जा कब तक कस पाएगी जो नॉनवेज और वेज के नाम पर सिर्फ और सिर्फ आम जनमानस को जहर परोस रहे हैं।  यदि ऐसा ही चलता रहा तो आगे आने वाले समय में सारे नागरिक इस जहर का शिकार हो जाएंगे और वोट डालने के लिए कौन जाएगा क्या सरकार आगे बन पाएगी और यदि सरकार इन माफियाओं पर नकेल महि  कसती है तो क्या यह वोट उनको मिल पाएंगे बहुत बड़े सवाल हैं..? 

कानपुर की मेयर ने भी इस तरह से अवैध कब्जा करके लाखों की कमाई करने वाले लोगों पर नकेल कसने का काम किया है किंतु कानपुर साउथ में स्थित महेंद्र मीट वाले पर अभी तक कोई सवालिया निशान नहीं लगे है।