कैसे हुई गैंगस्टर की बेटी की मौत, पोस्टमार्टम रिपोर्ट में वजह साफ नहीं, छावनी में तब्दील हुआ गांव

 
Chandauli

यूपी के चंदौली जिले के मनराजपुर गांव में रविवार को पुलिस गैंगस्टर के आरोपी कन्हैया यादव के घर दबिश देने गई। कुछ देर बाद खबर आई कि कन्हैया की बेटी निशा यादव उर्फ गुड़िया (22) की मौत हो गई। घर वालों का आरोप है कि पुलिस की पिटाई से निशा की मौत हुई जबकि उसकी छोटी बाहन घायल हो गई। घटना से संबंधित एक वीडियो वायरल हुआ और भारी हंगामा हो गया। निशा की पोस्टमार्टम रिपोर्ट से उसकी मौत का कारण साफ नहीं हुआ।

एसपी अंकुर अग्रवाल ने कहा कि फोरेंसिक जांच रिपोर्ट आने के बाद आगे की कार्रवाई की जाएगी। सोमवार सुबह मीडिया से बात करते हुए उन्होंने कहा पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत के कारणों की पुष्टि नहीं हो सकी है। रिपोर्ट के अनुसार गले पर खरोंच और जबड़े पर चोट के निशान पाए गए हैं। इसके अलावा आंतरिक या बाहरी किसी तरह की चोट नहीं है।

सभी एंगल से की जा रही जांच 

पोस्टमार्टम रिपोर्ट में मौत का कारण स्पष्ट नहीं होने पर विसरा जांच के लिए भेजा गया है। विसरा और फोरेंसिक जांच रिपोर्ट आने के बाद ही आगे की कार्रवाई की जाएगी। इसके साथ ही मौके पर घटना का रिक्रिएशन कर विशेषज्ञों की राय भी ली जाएगी। एसपी अंकुर अग्रवाल ने बताया कि सभी बिंदुओं की जांच की जा रही है। इस बात की पुष्टि अभी बाकी है कि पुलिस जब मौके पर पहुंची तो मृतका फंदे से लटकी हुई थी या उसका शव जमीन पर था।

निलंबित इंस्पेक्टर पर मुकदमा दर्ज

सोशल मीडिया पर वायरल वीडियो, सर्विलांस अन्य महत्वपूर्ण तथ्यों को भी जांच में शामिल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि जांच में अन्य पुलिसकर्मी अगर पाए जाएंगे दोषी तो उनके खिलाफ भी कार्रवाई होगी। बता दें कि इस प्रकरण में एसपी ने रविवार रात ही सैयदराजा इंस्पेक्टर को निलंबित कर जांच के निर्देश दिए थे।

रात में तहरीर के आधार पर सैयदराजा इंस्पेक्टर पर समेत कई पुलिसकर्मियों पर मुकदमा दर्ज हुआ है।  कन्हैया यादव ने सैयदराजा इंस्पेक्टर पर अपनी बेटी निशा की हत्या का आरोप लगाते हुए एसपी को तहरीर देकर आरोप लगाया था कि घर में किसी पुरुष सदस्य के न रहने पर घुसे इंस्पेक्टर और अन्य पुलिसकर्मियों ने मेरी दो बेटियों को इतना पीटा कि एक की मौत हो गई।  

पूरा मामला

सैयदराजा थाना क्षेत्र के मनराजपुर निवासी कन्हैया यादव गैंगेस्टर का आरोपी है और जिला बदर भी है। रविवार शाम कन्हैया की तलाश में पुलिस उसके घर गई थी। आरोप है कि पुलिस ने उसकी बेटियों निशा यादव उर्फ गुड़िया (22) और गुंजा (18) को इतना पीटा कि गुड़िया की मौत हो गई। घटना के बाद जिले में हड़कंप की स्थिति बन गई। 

आक्रोशित ग्रामीणों ने मौके पर मौजूद पुलिस पैंथर टीम के दो सिपाहियों को दौड़ा लिया। एक पुलिसकर्मी दौड़कर भाग गया वहीं दूसरे पुलिसकर्मी हवलदार छविनाथ गौतम को मारपीट कर गंभीर रूप से घायल कर दिया।  इस दौरान एक ट्रक और प्राइवेट एंबुलेंस के शीशे तोड़ डाले। एसपी ने कहा कि घायल पुलिसकर्मियों का इलाज चल रहा है। अस्पताल से छुट्टी होने के बाद उनसे भी बात की जाएगी। उनकी ओर से मिली तहरीर पर मारपीट करने वालों के खिलाफ भी मुकदमा दर्ज कराया जाएगा।