आरएसएस के स्वयंसेवक और स्टूडेंट्स के बीच चली लाठियां: तीन लोग घायल

 
kanpur

कानपुर के बालाजी पार्क में आरएसएस के स्वयंसेवक और स्टूडेंट्स के बीच विवाद हुआ। मामला तूल पकड़ने के बाद दोनों पक्षों के बीच लाठी-डंडे चले। इसमें 6 छात्रों को चोटें आईं हैं। रविवार को नौबस्ता थाने में एफआईआर दर्ज हुई है। इसके बाद वीडियो सामने आया। पुलिस ने इस घटना से जुड़े हुए वीडियो को बतौर साक्ष्य शामिल किया है। शुरुआती जांच में सामने आया कि दोनों पक्षों के बीच मैदान को लेकर ही विवाद हुआ। आरएसएस के स्वयंसेवक चाहते थे कि यहां शाखा चले। जबकि आस-पास रहने वाले स्टूडेंट चाहते थे कि यहां पर क्रिकेट खेल सके।

ये घटना शनिवार शाम की है। 12वीं में पढ़ने वाले छात्र अनुराग पाल अपने दोस्तों के साथ मैदान में क्रिकेट खेल रहा था। मैदान के एक हिस्से में आरएसएस की शाखा चल रही थी। अभ्यास करने के लिए स्वयंसेवक वहां मौजूद थे। पुलिस को दर्ज कराए हुए बयानों के मुताबिक क्रिकेट मैच में एक खिलाड़ी के शॉट मारने पर बॉल वहां पहुंच गई। जहां शाखा चल रही थी।कुछ स्टूडेंट अपनी बॉल को मांगने के लिए वहां पहुंचे। आरोप है कि बॉल देने से इनकार कर दिया गया। कहा गया कि यहां क्रिकेट खेलने से शाखा का अभ्यास प्रभावित हो रहा है। वो लोग क्रिकेट कहीं और जाकर खेल लें। ये बात स्टूडेंट्स को पसंद नहीं आई।इसके बाद स्वयंसेवक लाठी, जबकि स्टूडेंट बैट और विकेट ले आए। दोनों तरफ से मारपीट हुई। आस-पास के लोगों ने बीच-बचाव कराया। लेकिन, स्टूडेंट्स के गुट के 6 लोग चोटिल हो गए। 3 छात्रों के सिर फट गए। उनका पास के अस्पताल में इलाज करवाया गया। छात्रों ने ही नौबस्ता थाने में एफआईआर कराई है।

शाखा की वजह से एक कोने में खेल रहे थे क्रिकेट
घायल अनुराग के मुताबिक वो लोग रोज वहां क्रिकेट खेलते हैं। मोहल्ले के आस-पास बने घरों के लड़के भी वहीं खेलने आते हैं। इसको लेकर पहले भी शाखा के लोगों को दिक्कत हो रही थी। लेकिन, कभी विवाद नहीं हुए। हल्की बहस जरूर इससे पहले हो चुकी है।

शनिवार शाम को भी उन लोगों ने क्रिकेट खेलने से मना किया था। इसलिए सभी स्टूडेंट एक कोने में ही खेल रहे थे। लेकिन, एक लंबे शॉट की वजह से बॉल शाखा के पास तक पहुंच गई। जिसके बाद, उन लोगों घेरकर मारपीट की। पुलिस के मुताबिक एक पक्ष की तहरीर मिलने के बाद एफआईआर दर्ज हुई है। दूसरे पक्ष से कोई तहरीर नहीं आई है। आरोपियों को वीडियो के आधार पर तलाश किया जा रहा है।