ईमानदारी की मिसाल, 3.42 लाख रुपये बस में भूला यात्री, कंडक्टर ने लौटाए

बस में यात्री भूला रुपये से भरा बैग
 
मिसाल
हरियाणा

हरियाणा में रोडवेज बस के कंडक्टर  ने मिसाल पेश करते हुए एक बच्चे को अशिक्षित होने से बच्चा लिया. कंडक्टर का नाम नरेंद्र है, जिसने तीन लाख 42 हजार रुपये से भरा बैग असली मालिक को लौटाकर ईमानदारी का परिचय दिया. दरअसल रोडवेज बस में एक यात्री बैग भूल गया, जिसमें 3.42 लाख रुपये थे. ये बैग परिचालक नरेंद्र को मिला. उसने यात्री को ये राशि वापस लौटा दी

बता दें कि रविवार अलसुबह जींद से चंडीगढ़ के लिए बस निकली जिसमें चालक विजय चहल और परिचालक नरेंद्र थे. रास्ते में नगूरां गांव का राजेश बस में बैग लेकर चढ़ा. चंडीगढ़ बस स्टैंड से पहले राजेश नीचे उतर गया लेकिन अपना बैग बस में ही भूल गया. बस अड्डे पर पहुंचकर बस से सभी यात्री उतरे तो चालक विजय की नजर बैग पर पड़ी और उसने बैग उठा लिया.

पैसों से भरा बैग मिलने के बाद राजेश ने ये बैग अपने पास संभाल कर रख लिया, ताकि जिसका बैग है, उसे वापस लौटाया जा सके. तभी यात्री राजेश अपने बैग की तलाश में बस स्टैंड पर पहुंचा. परिचालक नरेंद्र ने उसे बैग थमाया और तसल्ली के लिए बैग के अंदर रखे पैसे गिनवाए. बैग और पूरे पैसे मिलने पर राजेश ने राहत की सांस ली और परिचालक नरेंद्र का आभार जताया.