महुआ का पीएम पर तंज- 30 मिनट की कथित देरी पर इतना हंगामा? 15 लाख रुपये के लिए भारतीय 7 साल से इंतजार कर रहे

महुआ का पीएम पर तंज- 30 मिनट की कथित देरी पर इतना हंगामा? 15 लाख रुपये के लिए भारतीय 7 साल से इंतजार कर रहे

पूरा बंगाल कोरोना महामारी के साथ ही यास तूफान से बुरी तरह प्रभावित है, लेकिन वहां पर राजनीति खत्म होने का नाम नहीं ले रही। शुक्रवार को प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी तूफान का जायजा लेने बंगाल और ओडिशा के दौरे पर गए। ओडिशा में सब कुछ सामान्य रहा, लेकिन बंगाल में जबरदस्त सियासी ड्रामा हुआ। पहले सीएम ममता बनर्जी ने बैठक के लिए प्रधानमंत्री और राज्यपाल को आधे घंटे इंतजार करवाया, फिर आधी-अधूरी जानकारी देकर वो बैठक से चली गईं। जिसके बाद से सीएम बीजेपी नेताओं के निशाने पर हैं। ऐसे में अब टीएमसी सांसद महुआ मोइत्रा ने पलटवार किया है।

 महुआ मोइत्रा ने ट्वीट कर लिखा, "30 मिनट की कथित देरी पर इतना हंगामा? 15 लाख रुपये के लिए भारतीय 7 साल से इंतजार कर रहे। एटीएम के बाहर घंटों इंतजार कर रहे। वैक्सीन के लिए महीनों से इंतजार कर रहे। थोड़ा आप भी इंतजार कर लीजिए कभी-कभी...।।"

बंगाल बनाम केंद्र विवाद के बीच ओडिशा के मुख्यमंत्री नवीन पटनायक ने ट्वीट कर प्रधानमंत्री मोदी शुक्रिया अदा किया। पटनायक ने ट्वीट किया,'' चक्रवात यास प्रभावित क्षेत्रों के पुर्नवास के लिए 500 करोड़ रुपये की सहायता मुहैया कराने के लिए पीएम मोदी का आभार। साथ ही आपदा रोधी विद्युत अवसंरचना के निर्माण के लिए उठाए गए कदम भी सराहनीय हैं। प्रधानमंत्री मोदी ने पटनायक के ट्वीट पर जवाब देते कहा कि भुवनेश्वर में एक बहुत ही उपयोगी समीक्षा बैठक हुई। हम आपदा प्रबंधन क्षमताओं को मजबूत करने के लिए मिलकर काम करना जारी रखेंगे। 

पश्चिम बंगाल के मुख्य सचिव अलपन बंदोपाध्याय को केंद्र ने दिल्ली बुला लिया है। बतौर मुख्य सचिव उनका कार्यकाल खत्म हो गया था, लेकिन चार दिन पहले ही ममता सरकार ने तीन महीने के लिए उनका कार्यकाल बढ़ा दिया था। अलपन बंदोपाध्याय को ममता बनर्जी का करीबी माना जाता है। इस पर कांग्रेस नेता अभिषेक सिंघवी ने निशाना साधा। 

गृहमंत्री अमित शाह ने शुक्रवार को ही ट्वीट किया, "ममता दीदी का आज का आचरण दुर्भाग्यपूर्ण रहा। चक्रवात यास से प्रभावित लोगों की मदद करना समय की मांग है, लेकिन दुख की बात है कि दीदी ने अहंकार को जनकल्याण से ऊपर रखा। उनका आज का तुच्छ व्यवहार यही दर्शाता है।