बांधवगढ़ ताला में गंदी नाली से परेशान ग्रामीण

 
mp

विश्व प्रसिद्ध बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व ताला में एमपीआरडीसी वालों ने जब परासी से लेकर पनपथा तक की रोड बनवाई थी उसी समय बांधवगढ़ ताला के मार्केट में सौंदरीकरण के लिए विद्युत पोल के साथ नाली का भी निर्माण कराया गया था विद्युत पोल भी रोड के दोनों तरफ नहीं लगाया गया जिससे लगे स्ट्रीट लाइट का प्रकाश रोड में बराबर नहीं रहता। और वहीं दूसरी तरफ नाली का कार्य भी अधूरा छोड़ कर चले गए। नाली के पानी को ले जाकर नाले में गिराना था जोकि बस्ती से महज 50 मीटर की दूरी पर था। किंतु वह विनोद द्विवेदी के घर तक ले जाकर छोड़ दिया गया

जिससे पूरे मार्केट का पानी एवं होटलों का गंदा पानी बहकर उनके घर के सामने आकर इकट्ठा हो रहा है जिससे उनका पूरा घर उस पानी के गंध के कारण बीमार पड़ रहे हैं। उस समय द्विवेदी परिवार ठेकेदारों से कहा भी था कि इसे थोड़ा आगे ले जाकर नाले में मिला दीजिए किंतु ठेकेदारों द्वारा अधूरा कार्य करके चले गए। इसके लिए ग्रामीण जनों ने प्रदूषण नियंत्रण बोर्ड को भी पत्र के माध्यम से अवगत कराया है और इसके साथ साथ ग्राम पंचायत को भी पत्र के माध्यम से अवगत कराया गया है स्थानी कार्यालय ग्राम पंचायत से विनम्र आग्रह द्विवेदी परिवार द्वारा किया गया किंतु उनके द्वारा कोई वैकल्पिक व्यवस्था नहीं की गई खुले में गंदे पानी इकट्ठा होने के कारण मवेशी एवं पशु पक्षी भी उसका पानी पीकर बीमार पड़ रहे हैं। मच्छरों की कई प्रजातियां भी पैदा हो रही है मलेरिया जैसी महामारी बीमारी का खतरा आसपास के लोगों को परेशान कर रही है।