ICU बेड के लिए किस्तों में ली रकम

ICU बेड के लिए किस्तों में ली रकम

कोरोना महामारी अपनी चरम सीमा पर है। संकट की इस स्थित में एक ओर तो लोग एक दुसरे की ओर मदद का हाथ बड़ा रहे है तो दूसरी ओर कुछ लोग ऐसे भी है जो आपदा में अवसर को तलाश रहे है। लोग पहले ही कोविद 19 से जुंझ रहे है और अब उनसे स्वास्थ्य के नाम पर रिश्वत ली जा रही है। रिश्वतखोरी का ताजा मामला राजस्थान के जयपुर से आया है। यहां एक निजी अस्पताल के पुरुष नर्स ने कोरोना मरीज के लिए आईसीयू बेड की व्यवस्था करने के लिए उसके परिवार से 1.30 लाख के रिश्वत की मांग की। पीड़ित परिवार के पास पूरे पैसे नहीं थे तो आरोपी ने रकम की किस्त बांध दी। इस बात की जानकारी मिलते ही राज्य के भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो (एसीबी) ने  नर्स को रंगे हाथों गिरफ्तार कर लिया।

बता दें एसीबी ने पुरुष नर्स की गिरफ्तारी शनिवार को की। आरोपी की पहचान अशोक कुमार गुर्जर के रूप में की गई है। वह जयपुर के मेट्रो मास अस्पताल में एक नर्स के रूप में काम कर रहा था। पुलिस महानिदेशक, एसीबी, बीएल सोनी के अनुसार, आरोपी ने राजस्थान यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंसेज (आरयूएचएस) में आईसीयू बेड और अन्य सुविधाओं की व्यवस्था के लिए कोविड मरीज के परिवार से 1.30 लाख रुपये की मांग की थी। डीजीपी ने कहा कि गुर्जर शिकायतकर्ता से 95 हजार रुपये पहले ही ले चुका था।

पुलिस ने कहा कि शिकायत का सत्यापन किया गया और आरोपी को उस दौरान गिरफ्तार किया गया जब वह शिकायतकर्ता से 23 हजार रुपये रिश्वत की किस्त के तौर पर ले रहा था। गुर्जर पर भ्रष्टाचार निवारण अधिनियम के तहत मामला दर्ज किया गया है और उसके घर की तलाशी ली जा रही है।