पत्रकारों पर हो रहे अत्याचार को लेकर हुआ धरना प्रदर्शन

 
up

पत्रकार का नग्न वीडियो वायरल किये जाने के विरोध में कानपुर के कम्पनी बाग चौराहे पर भारी संख्या में पत्रकारो ने अर्धनग्न होकर प्रदर्शन कर दोषियों के खिलाफ कार्यवाई की मांग की, आपको बतादे बीते 19 अप्रैल की रात महाराजपुर थाना में एक प्रतिष्टित पत्रकार के साथ पुलिस ने मारपीट की थी, जिसके बाद पुलिस की मौजूदगी में पत्रकार का नग्न वीडियो बनाकर वायरल किया गया। इस घटना ने तूल पकड़ना शुरु कर दिया है। कानपुर में पत्रकारों में भारी आक्रोश देखने को मिल रहा है।मामले में DGP मुकुल गौयल ने IG को जांच के आदेश दिए है जबकि एक पुलीस कर्मी को लाइन हाजिर किया गया है।

मामले में आज भारी संख्या में पत्रकारो ने कम्पनी बाग चौरहे पर बाबा भीमराव अंबेडकर की मूर्ति के नीचे अर्धनग्न होकर विरोध प्रदर्शन किया। पत्रकारो का कहना है कि अगर पत्रकार दोषी था तो उसके साथ वैधानिक कार्यवाई की जानी चाहिए थी ।जबकि नग्न वीडियो बनाकर वायरल किया गया है जो लोकतंत्र के चौथे स्तम्भ पर सीधा हमला है। वरिष्ठ पत्रकार नीरज तिवारी ने कहाकि सभी दोषी पुलिसकर्मियों को बर्खात कर उनके खिलाफ मुकदमा दर्ज किया जाना चाहिए।अगर उनकी मांग पूरी नही हुई तो सभी पत्रकार साथी अर्धनग्न अवस्था मे ही अपना कार्य करेंगे