जहांगीरपुरी बवाल में सनसनीखेज खुलासा : एक दिन पहले ही हो गई थी उपद्रव की तैयारी

 
Jahagirpuri

जहांगीरपुरी में शोभा यात्रा के दौरान गड़बड़ी फैलाने की साजिश पहले ही रची जा चुकी थी। यात्रा के एक दिन पहले इसके पूरे इंतजाम किए गए थे। इस बात का खुलासा आरोपी सोनू चिकना उर्फ इमाम उर्फ यूनुस ने किया है। इस खुलासे की गवाही मौके से मिले एक दिन पहले के सीसीटीवी फुटेज भी दे रहे हैं। पुलिस की पूछताछ में सोनू से अपना गुनाह कबूल कर लिया है। उसने बताया है कि हनुमान जयंती के दिन कुशल चौक के पास फायरिंग की थी। पुलिस ने सोनू के कब्जे से पिस्टल बरामद कर ली गई है। आरोपी ने बताया कि उसने पिस्टल को काफी पहले अपने एक परिचित से लिया था और घर में रख रखा था।

पुलिस के अधिकारिक सूत्रों ने बताया कि सोनू पर कोई आपराधिक मामला दर्ज नहीं है। वह मूलत: हल्दिया पश्चिम बंगाल का रहने वाला है। वह आठ भाई और तीन बहन हैं। हिंसा के मामले में उसका भाई सलीम गिरफ्तार हो चुका है और उस पर लूट और हत्या का प्रयास का मामला है।

17 अप्रैल को सोशल मीडिया पर एक वीडियो वायरल हुआ था। जिसमें 28 साल का सोनू नीले कुर्ते में गोली चलाता हुआ दिख रहा था। वीडियो के आधार पर पुलिस ने आरोपी की पहचान की और उसे सोमवार शाम गिरफ्तार कर लिया। इससे पूर्व दिन में पुलिस ने सोनू के घर पर दबिश दी थी। जहां उसके परिवार वालों ने पुलिस पर पथराव कर दिया था। पथराव में निरीक्षक सतेंद्र खारी घायल हो गए थे। पुलिस ने इस मामले में उसकी एक महिला रिश्तेदार सलमा को गिरफ्तार कर लिया। 

सोनू ने पूछताछ में बताया कि उसे एक दिन पहले ही शोभा यात्रा में गड़बड़ी किए जाने की जानकारी मिली। उसने बताया कि काफी दिनों से अंसार, सलीम और असलम इसकी तैयारी कर रहे थे। हर साल इस इलाके में शोभा यात्रा निकाली जाती है

पुलिस सूत्रों का कहना है कि इस दौरान युवकों की स्थानीय लोगों से झड़प भी हुई थी। अब दिल्ली पुलिस स्थानीय लोगों के बयान दर्ज करेगी, ताकि अदालत में मामले को मजबूती के साथ रखा जा सके। पुलिस फुटेज को अहम सुराग मान रही है। इस फुटेज के बाद ही पुलिस ने साजिश के एंगल से तफ्तीश शुरू की है।