दिल्ली- मुंडका इलाके की इमारत में आग का तांडव, अब तक 27 लोगों की जलकर मौत, सौ से ज्यादा का रेस्क्यू।

 
हफीज

दिल्ली के मुंडका में एक इमारत में भीषण आग लग गई जिसमें 27 लोगों की जान चली गई। आग में अब तक आग में काबू नहीं पाया गया है। जानकारी के मुताबिक एक बार फिर से बिल्डिंग में आग भड़क चुकी है। एनडी आर एफ की टीम भी मौके पर मौजूद है। बिल्डिंग से 100 से अधिक लोगों को रेस्क्यू किया जा चुका है। घटना स्थल में 24 दमकल की गाडियां पहले से ही आग में काबू पाने के लिए मौजूद है। जिस बिल्डिंग में आग लगी है उसमें 30 से 40 लोगों के फंसे होने की आशंका भी जताई जा रही है। 

जानकारी के मुताबिक,जब आग लगी, तब 150 से ज्यादा लोग अंदर काम कर रहे थे। दिल्ली फायर ब्रिगेड सेवा के उप मुख्य अग्निशमन अधिकारी सुनील चौधरी ने बताय कि आग फैलने से लोग इतना डर गए थे कि कुछ लोग जान बचाने के लिए इमारत से कूद गए, जिन्हें अस्पताल में भर्ती कराया गया। एक फायर कर्मचारी के मुताबिक तकरीबन 300 लोगों का रेस्क्यू कर लिया गया है। 

घटना पर दिल्ली पुलिस ने बयान जारी करते हुए कहा कि प्रारंभिक जांच में यह पता चला है कि जिस बिल्डिंग में आग लगी है उसका इस्तेमाल कमर्शियल इस्तेमाल के लिए किया जाता था। पुलिस के अनुसार, आग  बिल्डिंग की पहली मंजिल पर लगी, जहां पर सीसीटीवी कैमरे और राउटर बनाने वाली कंपनी का ऑफिस है। इसके बाद यह ऊपर की मंजिलों में भी फैल गई।

बता दे शुक्रवार शाम 04.45 बजे एक ऑफिस में आग लगने की घटना के संबंध में मुंडका पुलिस स्टेशन में एक पीसीआर कॉल आई थी, कॉल की सूचना पर स्थानीय पुलिस तुरंत ने तुरंत एक्शन लेते हुए मौके पर पहुंची और लोगों को बचाने में जुट गई। पुलिस अधिकारियों ने इमारत की खिड़कियां तोड़कर लोगों को बाहर निकाला और घायलों को संजय गांधी मेमोरियल अस्पताल में भर्ती कराया जा रहा हैं।  

लगातार सात घंटे से रेस्क्यू ऑपरेशन जारी रहने के बावजूद आग पर काबू नहीं पाया जा सका है। इसके चले अब एनडीआरएफ को भी मौके पर तैनात किया जा रहा है। जो रेस्क्यू का जिम्मा संभालेंगी।

कंपनी मालिक हिरासत में

जिस बिल्डिंग में आग लगी है उस बिल्डिंग में आग पर काबू पाने के लिए कोई इंतजामत नहीं थे। न ही बिल्डिंग के पास इस संबंध में एनओसी मौजूद थी। इस घटना के बाद जिस कंपनी में आग लगी है उसके मालिक हरीश गोयल और वरूण गोयल को हिरासत में ले लिया गया है।

2 - 2 लाख का मुआवजा

घटना में जलकर जान गंवाने वाले लोगों के परिजनों को प्रधानमंत्री राष्ट्रीय राहत कोष की ओर से दो दो लाख रुपये देने का ऐलान किया गया है। घटना में घायल हुए लोगों को पचास पचास हजार रुपए देने की घोषणा भी की गई है।