बांधवगढ़ टाइगर में भीषण आग

 
mp

विश्व प्रसिद्ध बांधवगढ़ टाइगर रिजर्व ताला फॉरेस्ट बेरियल से थोड़ी दूर पर खितौली जोन में भीषण आग लगी हुई है बांधवगढ़ के जंगल में यह आग पहली बार नहीं लग रही है बार-बार हर वर्ष इसी तरह से आगजनी होती है और नाना प्रकार के जीव जंतु उसमें जलकर राख हो जाते हैं पर्यटकों से आज बांधवगढ़ में कई अरबों रुपए का व्यवसाय होता है किंतु जीव जंतु जंगली जानवरों की सुरक्षा के लिहाज से आज तक एक भी फायर ब्रिगेड की गाड़ी वन विभाग के पास नहीं है

सूत्र बताते हैं कि स्थानीय लोगों को रोजगार न मिलने के कारण आगजनी घटनाओं को अंजाम दिया जाता है क्योंकि उन्हें दूसरी तरफ से वन भू अधिकार का पट्टा मिल रहा है जिसके लालच में लोग आकर दिन प्रतिदिन जंगलों की तरफ अतिक्रमण कर रहे हैं। सूत्र बताते हैं कि पिछले साल गाइड भरती से आक्रोशित लोगों ने भीषण आगजनी की थी। इस वर्ष भी गाइड भर्ती निकालने के बाद भी अभी तक चयन नहीं किया गया है। और वही पूंजी पतियों की गाड़ियां आंख मूंदकर जोड़ दी गई हैं। गरीब आदमी गाड़ी नहीं ला पाता इसलिए वह गाइड श्रमिक जैसे रोजगारों के लिए प्रयास करता रहता है यह भी जानकारी मिल रही है कि बांधवगढ़ में गर्मियों के सीजन में फायर के लिए बजट आता है। किंतु अधिकारियों के द्वारा उस बजट का बंदरबांट कर दिया जाता है। जिससे जंगल की सुरक्षा खतरे में पड़ जाती है इससे वन प्रेमियों में काफी निराशा है कि पार्क प्रबंधक द्वारा जंगल की सुरक्षाओ की तरफ ध्यान नहीं दिया जा रहा है।