मजदूरों की आवाज बनकर आम आदमी पार्टी पहुंची

 
mp

स्वतंत्र भारत में सभी को अपने अधिकारों के लिए आवाज उठाना और वैधानिक लड़ाई लड़ने का अधिकार है लेकिन निजी कंपनियों के द्वारा चंद फायदे के लिए नियम कायदों को दरकिनार कर मनमाना रवैया अपनाया जाता है,,,,, ऐसा ही कुछ मामला कटनी जिले की बड़वारा तहसील क्षेत्र के रूपोंध ग्राम में स्थित जेके व्हाइट सीमेंट प्लांट से सामने आया है । जहां दो मजदूरों को अपनी हक की लड़ाई लड़ना महंगा पड़ गया। कंपनी ने दोनों मजदूरों को मजदूरी करने मै रोक लगा दी । खबर फैलते ही प्लांट मे कार्य कर रहे सभी मजदूर अपनी मांगो को लेकर हड़ताल कर दी। बता दे कि,,,
कुछ दिनों पूर्व में मूलभूत सुविधाओ को लेकर कंपनी में कार्य करने वाले मजदूरों ने अपनी मांग प्लांट प्रशासन के सामने रखी थी। लेकिन मजदूरों की मांगे तो पूरी नहीं हुई अलबत्ता मजदूरों को बेरोजगार करने का सिलसिला शुरू कर दिया गया है। मजदूरों के मुताबिक पूर्व में 15 दिवसीय के अंदर अपनी जायज मांगो को लेकर प्लांट प्रशासन को ज्ञापन सौंपा गया था । जिस पर
मजदूर संगठन द्वारा किसी मजदूर को प्लांट से बाहर नहीं किये जाने की शर्त रखी गई थी । उसके बावजूद भी दो मजदूर साथियों का गेट बंद कर दिया है। जिसे लेकर सभी मजदूर हड़ताल पर बैठ गए ।

वहीं जानकारी मिलते ही अपने हक के लिए मजदूर निरंतर संघर्ष कर रहे से मिलने आम आदमी पार्टी के जिलाध्यक्ष सुनील मिश्रा अपनी पार्टी के सदस्यों के साथ मजदूर एकता जिंदाबाद के नारे लगाते हुए पहुंचे । जहा प्रशासकों के साथ बातचीत के कर सामंजस्य बनाया एवम कई मांगों को तत्तकाल स्वीकार किया गया व अन्य मांगों पर मैनेजमेंट ने प्रशासनिक अधिकारियों कटनी एस डी एम, अपर कलेक्टर,बड़वारा तहसीलदार, एन के जे व, बड़वारा थाना प्रभारी और जे के व्हाइट मैनेजमेंट की उपस्थिति में लिखित सुलहनामा में हस्ताक्षर कर प्लांट का गेट खोलकर कर्मचारियों को अंदर प्रवेश कराया गया ।