मजबूरी और गरीबी ने कराया पिता के हाथों बेटे की मौत

मजबूरी और गरीबी ने कराया पिता के हाथों बेटे की मौत

गुजरात के कच्छ में ​एक पिता ने अपने नौ साल के बेटे की गला दबाकर हत्या कर दी. छह साल की मासूम बेटी द्वारा जब इसकी जानकारी दी गई, तो पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया. बताया गया है कि आर्थिक तंगी से जूझ रहा पिता अपने बेटे का इलाज नहीं करा पा रहा था.

नेपाल का रहने वाला है परिवार

कच्छ के जलारमनगर में रहने वाला हरीश कामी मूल रूप से नेपाल का रहने वाला है. वह यहां पर मूजदूरी करने के लिए आया था. बताया गया है कि हरीश के नौ वर्षीय बेटे दिनेश की सोमवार को संदिग्ध हालत में मौत हो गई. अपने बेटे की मौत के बाद हरीश ने मुंद्रा में रहने वाले परिवार के अन्य सदस्यों को सूचित किया. दिनेश की मौत की सूचना मिलते ही परिवार के अन्य सदस्यों में शोक की लहर दौड़ गई. 

दफनाया गया बच्चे का शव 

सूचना मिलने के बाद सुरक्षा गार्ड की नौकरी करने वाले हरीश के 55 वर्षीय चाचा नयन सिंह और लक्ष्मण सिंह कामी के साथ परिवार के अन्य सदस्य हरीश कामी के घर पहुंच गए. इन लोगों ने भी दिनेश की मौत प्राकृतिक कारणों से मानते हुए उसके शव को दफनाने का फैसला किया. शाम चार बजे ये सभी लोग एक ऑटो रिक्शा में बच्चे का शव लेकर नाना कपया के पास झील में पहुंच गए, जहां एक गड्ढा खोदा गया और दिनेश के शव को दफनाया गया.  पुलिस ने मामले की  छानबीन शुरू कर दी है. पुलिस ने आरोपी पिता को गिरफ्तार कर लिया है.