शादी का प्रलोभन देकर सवा दो साल तक लुटता रहा इज्जत,आरोपी फरार

 
mp

प्रसव वेदना से पीड़ित आदिवासी दुष्कर्म पीड़िता का मानपुर अस्पताल में प्रसव कराया गया है,हालांकि दुर्भाग्य से बच्चे की मौत हो गई है।

इस मामले में बीएमओ डॉ सोनिया सिंह ने बताया कि पीड़ित युवती प्रसव वेदना से पीड़ित थी,जिसके बाद परिजनों की मदद से गुरुवार को मानपुर अस्पताल लाया गया था,जांच में पाया गया कि पेट मे बच्चे की मृत्यु हो गई है,जिस वजह से मामला क्रिटिकल था,जिसके बाद पुलिस को जानकारी दी गई और तत्काल प्रसव कराया गया है।इस मामले में पीड़ित युवती की शिकायत पर मानपुर पुलिस ने आरोपी के विरुद्ध 376,376(2)(एन),366 के तहत प्रकरण पंजीबद्ध कर मामले को विवेचना में लिया है।बताया जाता है कि पीड़ित युवती की भाभी का भाई अक्सर घर आता रहता था,इसी बीच अविवाहित पीड़ित युवती से नजदीकियां बढ़ गई और शादी आदि का प्रलोभन देकर युवती की इज्जत से खेलने लगा।पुलिस को दी गई पीड़िता के शिकायत की माने तो वर्ष 2019 जुलाई माह से वर्ष 2021 अक्टूबर माह तक आरोपी युवक ने विवाह आदि का प्रलोभन देकर पीडिता को हवस का शिकार बनाता रहा,इस बात का खुलासा तब हुआ जब युवती प्रसव वेदना से पीड़ित हुई।इस पूरे मामले में अब पुलिस अतिसंवेदनशील है,आरोपी की तलाश में क़ई जगह रेड मार रही है,वही सगे सम्बन्धियों से भी आरोपी को गिरफ्त में लेने पूछताछ की जा रही है।इस मामले में जिस तरह 7 महीने में पीड़िता असहनीय प्रसव वेदना से पीड़ित रही और अस्पताल लाई गई है,और जांच में बच्चे की मृत्यु होना पाया गया है,उससे कही न कही भ्रूण हत्या के एंगल से भी इस मामले को पुलिस देख रही है,हालांकि पीएम रिपोर्ट में ये साफ हो जाएगा कि बच्चे की मौत किन कारणों से हुई है।