लॉकडाउन के उल्लंघन के आरोप में पप्पू यादव गिरफ्तार

लॉकडाउन के उल्लंघन के आरोप में पप्पू यादव गिरफ्तार

बिहार के पूर्व सांसद और जाप प्रमुख पप्पू यादव को मंगलवार सुबह पटना में मंदिरी स्थित उनके आवास से पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया। पप्पू यादव सुबह के समय पीएमसीएच के कोविड वार्ड में गए थे। पप्पू यादव की गिरफ्तारी की खबर सुनकर उनके आवास पर समर्थकों की भीड़ जमा होने लगी। बीते सोमवार को भी पप्पू यादव पीएमसीएच गए थे। पुलिस के मुताबिक उन पर बगैर अनुमति के घूमने, सरकारी कार्य में बाधा डालने और लॉकडाउन के नियमों का उल्लंघन करने का आरोप है।

अपनी गिरफ्तारी को लेकर ट्वीट करने के बाद पप्पू यादव ने एक और ट्वीट किया। पप्पू यादव ने उसमें लिखा कि कोरोना काल में जिंदगियां बचाने के लिए अपनी जान हथेली पर रख जूझना अपराध है, तो हां मैं अपराधी हूं। पीएम साहब, सीएम साहब दे दो फांसी, या, भेज दो जेल झुकूंगा नहीं, रुकूंगा नहीं। लोगों को बचाऊंगा। बेईमानों को बेनकाब करता रहूंगा।

वहीं इस मामले पर पलटवार करते हुए पप्पू यादव ने कहा कि ये राजनीति से प्रेरित है। पप्पू यादव ने कहा कि जब हम वहां गए तो वहां शांति पूर्ण तरीके से चीजों को उजागर किया। उन्होंने कहा कि इस मामले की सच्चाई में आईजी के नेतृत्व में जांच होनी चाहिए। पप्पू यादव ने कहा कि घटना के 24 घंटे बाद शिकायत दर्ज की गई है, घटना के तुरंत बाद क्यों नहीं हुई।

बता दें कि हाल ही में पप्पू यादव ने एमपीएलएडी के तहत खरीदी गईं दर्जनों एंबुलेंस को जनता को समर्पित ना करने पर सवाल खड़े किए थे। उन्होंने सारण से भाजपा सांसद राजीव प्रताप रूडी पर सवाल खड़े किए थे। इस पर सांसद ने पलटवार करते हुए कहा था कि ड्राइवर के ना होने की वजह से एंबुलेंस का संचालन नहीं हो पाया।