दरिंदगी की सारी हदे पार, गैंगरेप के बाद महिला को बिजली के खभे से लटकाया

दरिंदगी की सारी हदे पार,  गैंगरेप के बाद महिला को  बिजली के  खभे से लटकाया

बिहार के समस्तीपुर जिले के विभूतिपुर थाना क्षेत्र के एक गाव से दिल दहला देने वाली घटना सामने आई। जहा सुबह घर से शौच के लिए निकली एक महिला के साथ दुष्कर्म किया गया। इस घिनौने कृत से भी जब आरोपियों का दिल नहीं भरा तो उन्होंने ने हैवानियत की सारी हदें पार करते हुए बेहोश महिला को नग्न अवस्था में फंदे के सहारे बिजली के खंभे से लटका दिया। घटना की जानकारी मिलने के बाद पुलिस ने महिला को गंभीर हालत में सदर अस्पताल में भर्ती कराया और मामले की जांच में जुटी हुई है।

पीड़िता के परिवार वालों ने पुलिस को बताया कि घर में शादी थी। शादी की अगली सुबह मंगलवार को जब घर की बहू शौच के लिए निकली तो पहले से ही घात लगाए कुछ लोगों ने उसे जबरदस्ती उठा लिया और सुनसान जगह पर ले गए। इसके बाद दरिंदे महिला के साथ दुष्कर्म का प्रयास करने लगे। पीड़िता के विरोध करने पर उन्होंने महिला की पिटाई की और हत्या की धमकी देकर चुप रहने को कहा। इस तरह सभी लोगों ने बारी-बारी से महिला के साथ गैंगरेप की घटना को अंजाम दिया। ऐसे में पीड़िता बेहोश हो गई। आरोपियों को लगा कि उसकी मौत हो गई है। इसके बाद दरिंदों ने महिला को बिजली के एक खंभे से फंदे के सहारे लटका दिया। 

घटना के कुछ देर के बाद जब गांव के लोगों ने महिला बिजली के खंभे से लटके देखा तो चीख-पुकार मच गई। ग्रामीणों ने महिला को पोल से खोलकर स्थानीय स्तर पर इलाज कराना शुरू किया। उसके बाद अनुमंडलीय अस्पताल दलसिंहसराय में भर्ती करवाया गया, जहां से डॉक्टरों ने उसे सदर अस्पताल रेफर कर दिया, यहां पीड़िता जिंदगी और मौत के बीच संघर्ष कर रही है। परिवार वाले आशंका जता रहे है कि उनकी बहू के  साथ घिनौनी वारदात को अंजाम शादी में मौजूद टेंट और बाजे वाले मजदूरों ने दिया। ऐसे में गुस्साए ग्रामीणों ने सात टेंट मजदूरों को बंधक बना लिया। घटना की सूचना मिलते ही मौके पर जब पुलिस पहुंची तो ग्रामीणों ने बंधकों को उन्हें सौंप दिया। अब पुलिस पंडाल में काम करने वाले मजदूरों से पूछताछ कर रही है।

इधर, महिला थाने की पुलिस गंभीर हलात में अस्पताल में भर्ती पीड़िता का बयान लेने के लिए  पहुंची लेकिन वह कुछ भी कह पाने की स्थिति में नहीं थी, जिस कारण अभी तक उसका बयान नहीं लिया जा सका। पुलिस महिला के होश में आने का इंतजार कर रही है। पूरा मामला पीड़िता के होश में आने के बाद ही पता चलेगा। फिलहाल मामला दर्ज नहीं किया गया है और सातों बंधकों को हिरासत में लेकर पूछताछ की जा रही है।