गरीब पात्र महिला से की गई 2900 रूपये की मांग

 
m


देश के प्रधानमंत्री, नरेंद्र मोदी का सपना,,
हर पात्र गरीब महिलाओं के घर पर हो गेस कनेक्शन अपना,,,
जी हां,,, उज्जवला योजना के अंतर्गत फ्री गैस कनेक्शन के साथ भरा गेस सिलेंडर और गैस चूल्हा प्रदान किया जा रहा है । ताकि अब हर पात्र गरीब परिवार की महिलाएं भोजन बनाते समय घंटो परेशान ना होना पड़े । साथी ही पर्यावरण को बचाए रखने के लिए किसी भी प्रकार का प्रदूषण ना हो सके ।


धुआरहित बनने के लिए केंद्र सरकार ने प्रधानमंत्री के नेतृत्व में सामाजिक कल्याण योजना प्रधानमंत्री उज्ज्वला योजना की शुरुआत 2016 की थी।
ताकि उज्ज्वला योजना के तहत गरीबी रेखा से नीचे जीवन यापन करने वाले परिवारों की महिला को मुफ्त में गैस कनेक्शन दिया जा सके। जिसमे लाभार्थियों को पहली रिफिल मुफ्त में उपलब्ध कराने के साथ ही चूल्हा भी मुफ्त में उपलब्ध करवाया जाता है।

परन्तु कटनी जिले के रीठी तहसील में संचालित इंदिरा भारत गैस एजेंसी का एक बार फिर मामला सामने आया है जंहा नजदीक शाहनगर क्षेत्र अंतर्गत ग्राम कचौरी में पात्रता धारी हितग्राही गरीब महिला ने बताया है कि उज्जवला योजना में मेरा सूची में नाम है लेकिन कुछ दिनों पहले रीठी में संचालित इंदिरा भारत गैस एजेंसी के कर्मचारी द्वारा 2900 रुपये की मांग की गई , महिला ने अपनी दुख भरी कहानी बताते हुए कंहा है कि गरीब महिला हु मेरे पास इतने सारे पैसे नहीं ,,, ,यह कोई पहला मामला नहीं इसके पहले भी इस गैस एजेंसी के मामले सामने आये है ।
अब सवाल यह उठता है कि जब शासन द्वारा सभी पात्र हितग्राही महिलाओं को निशुल्क गैस कनेक्शन दिया जा रहा है तो फिर पात्र हितग्रहयो से पैसो की मांग क्यों की जा रही है ,,आखिर किस बात के लिए पैसो की मांग की जा रही है
,,यह प्रश्न लोगो को सोचने पर बार बार मजबूर कर रहा है,,,,