जानिये भाजपा के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की कहानी, घर के सारे सदस्य करते है अवैध काम।

15
Share A Public Route

उन्नाव दुष्कर्म केस के आरोपी भाजपा के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर उन्नाव की सियासत में एक बड़ा नाम है। राजधानी लखनऊ से लगभग 63 किलोमीटर दूर स्थित उन्नाव ब्राह्मण बहुल इलाका है। यहां पर सेंगर सबसे कद्दावर राजपूत हैं। जानकारों का कहना है कि उन्नाव के सेंगर जिले के ठाकुरों को एकजुट करने वाले नेताओं और बहुबलियों में शुमार है। कांग्रेस पार्टी से अपने राजनीतिक सफर की शुरुआत करने वाले कुलदीप ने खुद को उन्नाव में एक नहीं चार बार बाहुबली विधायक के रूप में स्थापित किया। रूतबा ऐसा बनाया कि जिस पार्टी से भी चुनाव लड़े उसी से उनकी जीत पक्की रही। 

Loading…

ग्राम पंचायत से विधायक बनने तक का सफर
कुलदीप ने सबसे पहले माखी गांव की ग्राम पंचायत से सियासत शुरु की। माखी गांव उन्नाव जिले की सबसे बड़ी ग्राम पंचायतों में शामिल है। एक बार गांव के प्रधान चुन लिए जाने के बाद उन्होंने युवा कांग्रेस से सक्रिय राजनीति में कदम रखा। सक्रिय राजनीति में कदम रखने के बाद कुलदीप ने पीछे मुड़कर नहीं देखा।

एक बार राजनीति का चस्का लग जाने के बाद उन्होंने सभी राजनीतिक दलों में अपनी पैठ बनाई, सभी से अच्छे रिश्ते कायम किए, उसके बाद दलों में अपनी अच्छी पैठ और संबंधों के बूते वो लगातार चार बार विधायक का चुनाव जीते। वर्तमान में भी कुलदीप उन्नाव के बांगरमऊ विधानसभा से विधायक हैं। कुलदीप के छोटे भाई मनोज सिंह 2005 से 2010 तक मियागंज ब्लॉक के प्रमुख रहे। उनको ब्लाक प्रमुख बनवाने में भी उनकी भूमिका रही।

Loading…

सपा से लड़े फिर की बगावत 
कुलदीप ने साल 2012 के विधानसभा चुनाव में सपा के टिकट पर भगवंतनगर से चुनाव लड़ा, वहां से वो विधायक निर्वाचित हुए। 2016 में सपा में रहते हुए पार्टी से बगावत करके जिला पंचायत चुनाव में अपनी पत्नी संगीता सेंगर को मैदान में उतार दिया। सपा में रहते हुए उन्होंने पार्टी के घोषित प्रत्याशी के खिलाफ पत्नी को न सिर्फ चुनाव लड़ाया बल्कि जीत भी हासिल की। विधानसभा चुनाव से पहले जनवरी 2017 में कुलदीप सिंह ने भाजपा का दामन थाम लिया।

आचार संहिता के उल्लंघन के मुकदमे के बाद सीधे दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज
कुलदीप की गिनती उन्नाव इलाके में एक बाहुबली नेता के रुप में होती है। उनके ऊपर चुनाव के समय आचार संहिता उल्लंघन के मुकदमे को छोड़ दिया जाए तो उनके ऊपर दूसरा मुकदमा दुष्कर्म का दर्ज हुआ। उन पर ये मुकदमा रायबरेली में दर्ज हुआ था। इतने बड़े राजनीतिक सफर में पहली बार अप्रैल 2018 में उन पर किशोरी से दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज हुआ था। तब पहली बार उनका नाम पुलिस की केस डायरी में चढ़ा था। हालांकि शहर व जिले की कई आपराधिक घटनाओं में उनकी शह या उनके गुर्गों के शामिल होने की बात सामने आई, लेकिन किसी ने रिपोर्ट नहीं दर्ज कराई। कुलदीप सिंह को राजनीतिक प्रतिद्वंदियों और विरोधियों को शिकस्त देने में माहिर माना जाता हैं

Loading…

25 साल में खड़ा किया सियासी साम्राज्य
ये कुलदीप का राजनीतिक रसूख ही कहा जाएगा कि दुष्कर्म की रिपोर्ट दर्ज होने, जेल जाने और सीबीआई की जांच जारी होने के बाद भी उनका क्षेत्र में दबदबा कायम रहा। यही नहीं इस मुद्दे पर गैर भाजपाई दलों के घेरने पर अब कुलदीप के भाजपा से निलंबन की कार्रवाई हुई है। विधायक का उनका दर्जा बरकरार है। 

जेल जाने के बाद भी कायम रहा रसूख और क्षेत्र में दबदबा
कुलदीप सिंह 1996 में पहली बार ग्राम प्रधान चुने गए। इसके बाद पांच साल के दो कार्यकाल में माता चुन्नी देवी प्रधान रहीं। मौजूदा समय में छोटे भाई अतुल सिंह की पत्नी अर्चना सिंह ग्राम प्रधान हैं। वर्ष 2002 में कुलदीप ने बसपा से उन्नाव सदर सीट से पहली बार सक्रिय राजनीति में कदम रखा और विधायक चुने गए। 2007 में उन्होंने सपा का दामन थामा और बांगरमऊ से विधायक बने। 

Loading…

उन्नाव दुष्कर्म मामले में कब क्या हुआ?

  • माखी की रहने वाली एक नाबालिग ने 4 जून 2017 को कुलदीप सिंह सेंगर पर दुष्कर्म का आरोप लगाया। लेकिन विधायक पर कोई मामला दर्ज नहीं किया गया। 8 अप्रैल 2018 को पीड़िता के पिता को उन्नाव पुलिस ने आर्म्स एक्ट में गिरफ्तार किया। अगले दिन पीड़िता के पिता की पुलिस हिरासत में संदिग्ध रूप से मौत हो गई। परिजनों ने पुलिस की पिटाई से मौत का आरोप लगाया।
  • इसके बाद पीड़िता ने लखनऊ स्थित मुख्यमंत्री आवास के सामने आत्मदाह की कोशिश की। इसके बाद मामला सुर्खियों में आया। राज्य सरकार ने जांच के लिए एसआईटी का गठन किया।
  • एसआईटी ने रिपोर्ट में कहा कि विधायक के खिलाफ दुष्कर्म के पर्याप्त सबूत नहीं मिले। 12 अप्रैल 2018 को प्रदेश सरकार की सिफारिश पर केंद्र ने सीबीआई जांच की मंजूरी दी। 24 अगस्त को मामले के गवाह यूनुस की संदिग्ध हालात में मौत हो गई। सीबीआई ने कब्र से उसका शव निकलवाकर पोस्टमॉर्टम कराया।

अब तक सीबीआई ने क्या किया?
7 जुलाई 2018: सीबीआई ने पीड़िता के पिता की मौत के मामले में आरोपपत्र दाखिल किया। 
11 जुलाई 2018: विधायक सेंगर के खिलाफ दुष्कर्म और पॉक्सो एक्ट की धाराओं में मामला दर्ज हुआ। 
13 जुलाई 2018: सीबीआई ने कुलदीप सिंह सेंगर से 16 घंटे पूछताछ की और गिरफ्तार किया। सीबीआई ने सेंगर पर पीड़िता के पिता के खिलाफ झूठा आरोप लगाने का मामला दर्ज किया।
27 जुलाई 2019: रायबरेली जाते वक्त पीड़ित के परिवार के साथ हादसा हुआ। जिसमें पीड़िता और उसका वकील घायल हुआ। जबकि चाची और मौसी की मौत हो गई। चाची दुष्कर्म केस में मुख्य गवाह थी।

Loading…

Author: admin

admin

15 thoughts on “जानिये भाजपा के विधायक कुलदीप सिंह सेंगर की कहानी, घर के सारे सदस्य करते है अवैध काम।

  1. The process begins in the uncomplicated activity associated with an account
    option. There they were, anticipating their forthcoming experience and joyously reliving the past
    one — Peter, Susan, Edmund, and Lucy, inside guises of
    actors William Moseley (now a dashing 20-year-old), Anna Popplewell
    (a newly minted Oxford freshman), Skandar Keynes (with vocal octaves greater at age 15), and Georgie Henley (approaching teenhood, a
    great six inches taller than we last saw her).
    Technology is driving dynamic advertising into new areas this also brings by using it some potential challenges, well don’t assume all companies have enough money to cover thousands
    of pounds in electronic advertising, well both options highlighted can offer a similar end results with
    low investment of your energy and funds, so now any company from
    mechanics to dentists can have these in their guest waiting rooms.

  2. Appreciating the time and energy you put into your website and
    in depth information you present. It’s good to come across a
    blog every once in a while that isn’t the same outdated rehashed
    information. Excellent read! I’ve saved your site and I’m including your RSS feeds to my Google account.

  3. Simply wish to say your article is as astounding. The clarity in your post is
    just great and i can assume you’re an expert on this subject.
    Well with your permission let me to grab your feed to keep up
    to date with forthcoming post. Thanks a million and please continue the enjoyable work.

  4. Goood day I am so delighted I found your weblog,
    I really found you by accident, while I wass looking on Aoll for
    something else, Regardless I am here now and ould just like to say many
    thanks for a remarkable post and a all round thrilling blog (I also
    love the theme/design), I don’t have time to read through itt aall at the minute but I have book-marked it and also added in your RSS feeds,
    soo when I have time I will be back to read more, Please do
    keep up the fantastic b.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

राजगढ़ पुलिस द्वारा इतिहास की सबसे बड़ी रिकवरी।

Fri Aug 2 , 2019
Share A Public Route Loading… राजगढ़, राधेश्याम चौरसिया।। जिले के खिलचीपुर क्षेत्र में उस समय सनसनी फैल गई जब  वहां के रहवासी रात की गहरी नींद से ठीक से जाग भी नहीं पाए थे उससे पहले ही खिलचीपुर में पुलिस की गाड़ियों के सायरन की गूंज दूर-दूर तक सुनाई दे रही […]

खा़स आर्टिकल सिर्फ आप के लिये।

Loading…

Subscribe Please