किसानों ने अगर पराली जलायी तो होगी f.i.r. जिला अधिकारी कानपुर देहात

कानपुर देहात की सिकंदरा तहसील में
आज मंगलवार को सिकंदरा तहसील परिसर में संपन्न कराए गए जिला स्तरी संपूर्ण समाधान दिवस के दौरान पहुंचे जिला अधिकारी डॉ दिनेश चंद्र की अध्यक्षता में संपन्न कराया गया। इस दौरान शिकायतों का निस्तारण तत्काल प्रभाव से कराए जाने के साथ की जिलाधिकारी द्वारा महिला सशक्तिकरण पर विशेष ध्यान देते हुए मिशन शक्ति योजना पर तत्काल सुनवाई करने के साथ ही जिन महिलाओं के राशन कार्ड अभी तक नहीं बने हैं। उन महिलाओं के राशन कार्ड तत्काल प्रभाव से बनाया जाए। वहीं पर जिला अधिकारी डॉ दिनेश चंद्र द्वारा लगातार वायु प्रदूषण की रोकथाम के लिए किसानों द्वारा पराली जलाने पर उपस्थित अधिकारियों व कर्मचारियों से कहा गया कि किसानों द्वारा जलाई गई प पराली की सूचना पर तत्काल प्रभाव से एफ आई आर दर्ज का जुर्माना वसूला जाए। जिला स्तरीय तहसील दिवस में पहुंचे पत्रकारों से मुखातिब होते हुए जिला अधिकारी द्वारा अनवरत खबर कवरेज ना किए जाने की बात भी कही गई। जिला स्तरीय संपूर्ण समाधान दिवस के दौरान लगातार किसानों पर कार्रवाई की चर्चा पर उपस्थित किसानों ने बताया कि सिर्फ किसानों द्वारा पराली जलाने से वायु प्रदूषित होना लाजमी है।वही क्षेत्र में सैकड़ों की तादाद में स्थिति ईट भट्टा की चिमनी द्वारा निकलने वाले विकराल धुए से भी वायु प्रदूषण में तीव्र बढ़ोतरी होती है।  जिस पर आज तक किसी प्रकार की कोई कार्रवाई नहीं की गई है। जबकि किसानों पर शासन द्वारा एफ आई आर दर्ज करने के निर्देश जारी कर दिए गए। वही तहसील परिसर में उपस्थित संभ्रांत किसानों ने संवाददाता को बताया कि यदि सरकार द्वारा गौ आश्रय केद्र संचालकों को अधिकारीगन आदेशित कर  किसानों के खेतों से पराली मंगवा ली जाए तो पराली जलाने की समस्या काफी हद तक खत्म हो जाएगी।

कानपुर देहात से ब्यूरो चीफ अश्वनी शुक्ला की रिपोर्ट