हाथरस : गैंगरेप पीड़िता की जलती चिता पर UP पुलिस हंसती नजर आई

हाथरस : गैंगरेप पीड़िता की जलती चिता पर UP पुलिस हंसती नजर आई

उत्तर प्रदेश (Uttar Pradesh) के हाथरस (Hathras) गैंग रेप पीड़िता (Gang Rape Victim) का शव देर रात उसके गांव पहुंचा। यहां उसके परिजनों और गांव वालों के भारी विरोध के बाद भी रात के 2 बजकर 45 मिनट पर पुलिस ने जबरन उसका अंतिम संस्कार कर दिया। इस दौरान यूपी पुलिस का असंवेदनशील चेहरा सामने आया। पीड़िता की जलती चिता पर उत्तर प्रदेश पुलिस  हसती नजर आई।

रात करीब 12.45 पर पीड़िता का शव हाथरस पहुंचा। जब एंबुलेंस से शव को अंतिम संस्कार के लिए ले जाया जाने लगा तो गांव वालों ने एंबुलेंस को रोका, इसके बाद करीब 2.30 बजे तक हंगामा होता रहा और गांव वालों ने एंबुलेंस को रोक कर रखा। इसके बाद भारी पुलिस की तैनाती के बीच गांव वालों के प्रयास असफल रहे

और 2.45 पर एंबुलेंस को अंतिम संस्कार के लिए भेज दिया गया। पीड़िता के अंतिम संस्कार के वक्त पीड़िता की जलती चिता पर पुलिसकर्मी हस्ते नजर आए। साइड में खड़े होकर पुलिस के कई अधिकारी बाते करते हुए ठहाके लगाकर हंस रहे थे। जो बेहद शर्मनाक है।


दरअसल, गांव वाले पीड़िता के साथ हुई इस दरिंदगी से आक्रोशित थे। वहीं पीड़िता के परिजन भी उसका अंतिम संस्कार नहीं होने देना चाहते थे। रात करीब 12.45 बजे पीड़िता का शव उसके गांव पहुंचा। गांव वाले इस घटना से इतने गुस्से में थे कि वो एंबुलेंस के आगे लेट गए और जमकर हंगामा काटा। इस दौरान उनकी पुलिस से झड़प हुई।

गांव वालों का कहना था कि चाहे तो हमे मार दो लेकिन हम अंतमि संस्कार नहीं होने देंगे। इस दौरान एसपी और डीएम पीड़िता के पिता और भाई के साथ डटे रहे और उनको समझाने का प्रयास करते रहे। दरअसल पीड़िता के मौत से व्यथित उसकी मां चाहती थी कि एक बार उसके शव को घर पर ले जाया जाए। पुलिस वालों के सामने पीड़िता की मां फूट-फूट कर रोने लगे