हाथरस : राहुल और प्रियंका गांधी की गाड़ी डीएनडी से रवाना हाथरस जाने के लिए

हाथरस : राहुल और प्रियंका गांधी की गाड़ी डीएनडी से रवाना हाथरस जाने के लिए

हाथरस केस लगातार चौथे दिन सुर्खियों में है। गैंगरेप पीड़िता को इंसाफ दिलाने की मांग को लेकर कांग्रेस के पूर्व अध्यक्ष राहुल गांधी गांधी और महासचिव प्रियंका गांधी को हाथरस जाने की अनुमति दे दी गई है। इसके बाद कड़ी सुरक्षा के बीच राहुल और प्रियंका गांधी डीएनडी से हाथरस के लिए रवाना हो गया है। इससे पहले जैसे ही राहुल गांधी का काफिला नोएडा के डीएनडी पर पहुंचा वहां जमकर हंगामा हुआ।

राहुल और प्रियंका को हाथरस जाने की इजाजत के बाद भी भीड़ इकट्ठी होने के कारण कांग्रेस कार्यकर्ताओं पर लाठीचार्ज।
रणदीप सिंह सुरजेवाला ने कहा कि क्या राहुल गांधी  या प्रियंका गांधी जी ने कोई अपराध किया है। क्या बलात्कारियों को सजा देना पाप है। क्या अनाचारियों को जेल भेजकर कड़ी से कड़ी सजा की मांग करना पाप है। क्या पीड़िता के परिवार के लिए न्याय की गुहार लगाना पाप है। 

अधिक भीड़ इकट्ठी होने के कारण पुलिस को उन्हें काबू करने के लिए लाठीचार्ज भी करना पड़ा। कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ ही पार्टी के कई विधायक और सांसद भी उनके साथ हाथरस जाने के लिए निकले थे। वहीं दूसरी ओर यूपी के डीजीपी व प्रमुख सचिव गृह अवनीश अवस्थी भी हाथरस पहुंचे और पीड़िता के परिवार से बात की। इसके अलावा सुबह मीडिया को गांव में आने की अनुमित दे दी गई। गैंगरेप पीड़िता के परिजनों ने टीवी चैनल वालों से बातचीत में अधिकारियों पर कई गंभीर आरोप लगाए हैं।कड़ी सुरक्षा के बीच कांग्रेस नेता राहुल और प्रियंका गांधी की गाड़ी हाथरस जाने के लिए डीएनडी से रवाना हुई।

राहुल और प्रियंका गांधी समेत सात लोगों को हाथरस जाने की इजाजत दी गई। गौतमबुध नगर के अपर पुलिस आयुक्त और राहुल गांधी के बीच हुई वार्ता में तय हुआ।

 राहुल गांधी से पुलिस ने की बातचीत 
राहुल का काफिला DND पहुंचा, पुलिस कर्मियों के साथ धक्का-मुक्की शुरू
राहुल गांधी के हाथरस दौरे के मद्देनजर नोएडा के ADCP रणविजय सिंह ने कहा कि कांग्रेस नेताओं द्वारा धारा 144 का उल्लंघन किया जा रहा है। गैरकानूनी जनसभा को नियंत्रित करने के लिए पुलिस बल तैनात है। हम लोग लगातार शांति की अपील कर रहे हैं। हमारी पूरी कोशिश है कि ये समझ जाएं और अपने गंतव्य को लौट जाएं।


रणदीप सुरजेवाला, केसी वेणुगोपाल, रागिनी नायक समेत कांग्रेस के कई सांसद और वरिष्ठ नेता पैदल ही डीएनडी की ओर आगे बढ़ रहे हैं। हाथों में पार्टी के झंडे लिए लिए हजारों कार्यकर्ता भी साथ चल रहे हैं। 


राहुल गांधी के काफिले के साथ हजारों कांग्रेस और यूथ कांग्रेस के कार्यकर्ता डीएनडी पर पैदल चलकर हाथरस के लिए जाते हुए। 

हजारों कांग्रेस कार्यकर्ताओं के साथ राहुल और प्रियंका गांधी का काफिला डीएनडी पर पहुंचा। पुलिस भी डीएनडी पर और आगे बढ़ी। 
हाथरस के लिए रवाना हुए कांग्रेस के काफिले का नेतृत्व कर रहे गाड़ी को प्रियंका गाधी खुद चला रही हैं और राहुल गांधी उनके बगल की सीट पर बैठे हुए हैं। वहीं साथ जा रहे कांग्रेस के सांसद और नेता बस में उनके पीछे चल रहे हैं।
कांग्रेस नेता राहुल और प्रियंका गांधी के दिल्ली से निकलने की सूचना पर गाजियाबाद के यूपी गेट पर चेकिंग तेज हुई। डीएनडी पर ट्रैफिक पूरी तरह रोका गया पुलिस द्वारा की गई बैरिकेडिंग से लंबा जाम लगा।


हाथरस की गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिलने के लिए कांग्रेस नेता राहुल गांधी और प्रियंका गांधी 37 सांसदों के साथ हाथरस के लिए रवाना हुए। इस दौरान प्रियंका गांधी ने कहा कि अगर इस बार भी नहीं मिल पाए तो हम फिर से कोशिश करेंगे। 
हाथरस पहुंचे एसीएस (होम) अवनीश अवस्थी और डीजीपी एचसी अवस्थी कथित गैंगरेप पीड़िता के परिवार से मिलकर बात करते हुए।


कांग्रेस नेता गुलाम नबी आजाद ने कहा- यूपी के लिए हाथरस की ये घटना कोई नई बात नहीं है, ये तो यूपी के लिए रोज का रूटीन हो गया है। इसमें​ सिर्फ पुलिस जिम्मेदार नहीं है, पुलिस तो एक हिस्सा है। ये वहां का नेतृत्व और उनकी मानसिकता दिखाती है।

 उत्तर प्रदेश के एसीएस अवनीश अवस्थी और डीजीपी हितेश चंद्र अवस्थी हाथरस पहुंचे। पीड़ित परिवार से मुलाकात कर समस्या का समाधान करने का प्रयास करेंगे।

राहुल गांधी के आज हाथरस जाने पर कांग्रेस नेता के.सी.वेणुगोपाल ने कहा कि हमारा मकसद सिर्फ परिवार से मिलना और उनकी शिकायतें सुनना है।
बैरिकेडिंग के कारण डीएनडी पर लंबा जाम लग गया है। वहीं, यूपी गेट फ्लाईओवर पर वाहनों को चेकिंग के बाद आगे जाने दिया जा रहा है, इसलिए यहां वाहनों की रफ्तार धीमी है।
राहुल गांधी के हाथरस दौरे के मद्देनजर डीएनडी पर कांग्रेस कार्यकर्ता जमा होने लगे। पुलिस ने कार्यकर्ताओं को हटाकर बैरिकेडिंग लगाई।

- केंद्रीय मंत्री स्मृति ईरानी ने वाराणसी में आज प्रेस कॉन्फ्रेंस कर हाथरस मामले में कांग्रेस पर राजनीति करने का आरोप लगाया। स्मृति ने कहा कि राहुल गांधी बेटी को इंसाफ दिलाने नहीं बल्कि राजनीति करने के लिए हाथरस आना चाहते हैं।

- स्मृति ईरानी ने कहा कि राहुल और कांग्रेस नेताओं को एक बार राजस्थान का दौरा भी करके आना चाहिए। उन्होंने कहा कि मैंने योगी आदित्यनाथ से बात की है और उन्होंने मुझे पीड़िता को न्याय दिलाने का आश्वासन दिया है।

हाथरस मामले के पीड़ित के परिवार से मिलने के लिए कांग्रेस नेता राहुल गांधी और अन्य पार्टी नेताओं के आज दोपहर फिर से हाथरस जाने की कोशिश के मद्देनजर डीएनडी पर सुरक्षा बढ़ाई गई।एसीएस गृह अवनीश अवस्थी और डीजीपी एचसी अवस्थी आज हाथरस का दौरा करेंगे।

- जनता कांग्रेस की रणनीति के बारे में जानते हैं, इसलिए उन्होंने 2019 के चुनावों में भाजपा के लिए ऐतिहासिक जीत सुनिश्चित की। लोग जानते हैं कि राहुल गांधी हाथरस की यात्रा उनकी राजनीति के लिए है ना कि पीड़ित को न्याय दिलाने के लिए नहीं। 
नोएडा के डीएनडी पर कांग्रेस कार्यकर्ता नहीं पहुंचे। नोएडा से सभी दिल्ली पहुंचे। राहुल गांधी के साथ ही डीएनडी आएंगे कार्यकर्ता।

- प्रशासन की तरफ से अब मीडिया को हाथरस पीड़िता के गांव में जाने की अनुमति मिल गई है। हाथरस के SDM ने बताया, SIT की जांच पूरी हो गई है इसलिए अब मीडिया पर किसी तरह की रोक नहीं है। धारा 144 अभी भी लागू है। अभी सिर्फ मीडिया को ही आने ही इजाजत है।

- यूपी कांग्रेस के प्रमुख अजय कुमार लल्लू ने कहा, 'मुझे घर में नजरबंद कर दिया गया है। राज्य सरकार क्या छिपाने की कोशिश कर रही है? वह किससे बचना चाहती है? आज उत्तर प्रदेश में महिलाएं असुरक्षित हैं। राज्य में अराजकता है। 


राहुल गांधी का ट्वीट : दुनिया की कोई भी ताक़त मुझे हाथरस के इस दुखी परिवार से मिलकर उनका दर्द बांटने से नहीं रोक सकतीपरिजन बोले- हम सीबीआई जांच नहीं चाहते, बस जांच सही हो। 

- पीड़िता की भाभी बोलीं- हम तो सब सच बोल रहे हैं हमारा नार्को टेस्ट क्यों ? 

- पीड़िता के परिजन बोले- यहां तो नेता अपनी राजनीति करने आ रहे हैं। 

मायावती ने भी किया ट्वीट : बीएसपी सुप्रीमो मायावती ने हाथरस गैंगरेप मामले की सीबीआई जांच की मांग की है। मायावती ने ट्वीट किया, 'हाथरस जघन्य गैंगरेप कांड को लेकर पूरे देश में जबरदस्त आक्रोश है। इसकी शुरूआती आई जांच रिपोर्ट से जनता सन्तुष्ट नहीं लगती है। इस मामले की CBI से या फिर माननीय सुप्रीम कोर्ट की निगरानी में जाच होनी चाहिए, बीएसपी की यह मांग।

- प्रियंका गांधी ने किया ट्वीट : यूपी सरकार नैतिक रूप से भ्रष्ट है। पीड़िता को इलाज नहीं मिला, समय पर शिकायत नहीं लिखी, शव को जबरदस्ती जलाया, परिवार कैद में है, उन्हें दबाया जा रहा है - अब उन्हें धमकी दी जा रही कि नार्को टेस्ट होगा। ये व्यवहार देश को मँजूर नहीं। पीड़िता के परिवार को धमकाना बंद कीजिए।