फ़िल्म जगत में शोक की लहर, नही रहे रमेश बाबू

नहीं रहे रमेश बाबू
 
रमेश बाबू
रमेश बाबू

फिल्म निर्माता और साउथ के सुपरस्टार महेश बाबू के बड़े भाई रमेश बाबू गरु का निधन हो गया। वह लंबे समय से बीमार चल रहे थे। रमेश बाबू सुपरस्टार कृष्णा के बड़े बेटे थे। उनके निधन के बाद इंडस्ट्री के लोग सदमे में हैं। पीन कल्याण समेत कई हस्तियों ने रमेश बाबू के निधन पर शोक व्यक्त किया है।

रमेश बाबू का निधन ऐसे समय में हुआ है जब महेश बाबू कोरोना पॉजिटिव हैं। महज एक दिन पहले सात जनवरी को महेश बाबू ने खुद ट्वीट कर कोरोना पॉजिटिव होने की जानकारी दी थी।

रमेश बाबू गरु के निधन की खबर की पुष्टि निर्देशक रमेश वर्मा ने भी की है। रमेश वर्मा ने ट्वीट किया, "यह सुनकर स्तब्ध हूं, रमेश बाबू गरु अब नहीं रहे। कृष्णा गरु, महेश बाबू गरु और पूरे परिवार के प्रति संवेदना। ओम शांति।"

फिल्म निर्माता बीए राजू ने ट्वीट किया, 'यह बहुत दुख के साथ है कि हम अपने प्यारे रमेश बाबू गरु के निधन की घोषणा करते हैं। वह हमेशा हमारे दिलों में जीवित रहेंगे। हम अपने सभी शुभचिंतकों से अनुरोध करते हैं कि वे कोरोना मानदंडों का पालन करें और श्मशान स्थल पर इकट्ठा होने से बचें।

महेश बाबू की तरह की उनके भाई भी साउथ इंडस्ट्री का एक जाना माना चेहरा थे। उन्होंने 1974 में 'अल्लूरी सीतारामाराजू' से स्क्रीन पर डेब्यू किया था। इस फिल्म के बाद रमेश बाबू ने कई तमिल फिल्मों में काम किया इसमें ना इले ना स्वर्गम, अन्ना चेलेलु, चिन्नी कृष्णुडु जैसी हिट्स शामिल हैं। रमेश बाबू कई फिल्मों में छोटे भाई महेश बाबू के साथ भी स्क्रीन को शेयर कर चुके हैं।