बुढ़वा मंगल पर मंदिरों में आधी रात से ही संकट मोचन के दर्शन करने पहुचे श्रद्धालु

Share A Public Route

बुढ़वा मंगल पर संकट मोचन हनुमान जी के दर्शन करने के लिए सोमवार आधी रात से ही पनकी स्थित पंचमुखी हनुमान मंदिर में श्रद्धालुओं का सैलाब उमड़ पड़ा। हजारों श्रद्धालु दर्शन पूजन कर प्रभु की कृपा पाने को आतुर दिखे। रात एक बजे जब पट खुले तो भक्तों ने प्रभु पर पुष्प वर्षा कर सुख समृद्धि की कामना की। वहीं दक्षिणेश्वर हनुमान मंदिर और अन्य मंदिरों में भी रात से ही दर्शन के लिए भक्तों की कतार लग गई।

Loading…

बुढ़वा मंगल पर मंदिरों में सुरक्षा के व्यापक प्रबंध किए गए हैं। पनकी स्थित हनुमान मंदिर में पुजारियों ने आरती-पूजन किया, इसके बाद भक्तों के दर्शन के लिए पट खोले गए। यहां सुरक्षा व्यवस्था संभालने के लिए आठ मजिस्ट्रेट तैनात किए गए हैं। प्रभु के दर्शन को यहां फतेहपुर, उन्नाव, फर्रुखाबाद, लखनऊ, इलाहाबाद, चित्रकूट, हरदोई, कानपुर देहात समेत कई जिलों से श्रद्धालु मंदिर पहुंच गए। रेलवे क्रासिंग तब भक्तों की लाइन रात एक बजे तक लग गई थी। भक्तों को पीने का पानी उपलब्ध कराने के लिए तीन लाख पानी के पाउच की व्यवस्था की गई है। मंगलवार को पूरे दिन पानी के पाउच मंदिर प्रबंधन की तरफ से बांटे जाएंगे और देर रात तक पट खुले रहेंगे। यहां स्वास्थ्य विभाग ने आधा दर्जन एंबुलेंस और चिकित्सक तैनात किए हैं।

Loading…

महंत श्रीकृष्ण दास ने बताया कि मंदिर में तैयारियां पूरी कर ली गई है। भक्तों को किसी तरह की समस्या न हो इसलिए स्वयंसेवक भी तैनात किए गए हैं। महामंडलेश्वर एवं महंत जितेंद्र दास ने कहा की तुलसी दल की माला से प्रभु का शृंगार किया जाएगा। प्रभु को 101 किलो लड्डू का भोग लगेगा।

Loading…

हनुमान मंदिर किदवई नगर, परमट स्थित हनुमान मंदिर, सोटे वाले ड्योढ़ी घाट स्थित हनुमान मंदिर में भी भक्तों की भीड़ होगी। जीटी रोड स्थित दक्षिणेश्वर मंदिर को दुल्हन की तरह सजाया गया है। यहां सुरक्षा व्यवस्था के लिए मंदिर प्रबंधन के स्वयंसेवक भी रहेंगे। भक्त यहां प्रभु का तुलसी की माला और पत्ते से शृंगार करेंगे। प्रभु को लड्डू का भोग व सिंदूर अर्पित किया जाएगा।

shishir Vishwakarma

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Next Post

सचेंडी थाने का निरीक्षण करेंगी आनंदीबेन पटेल

Tue Sep 10 , 2019
Share A Public Routeराज्यपाल बनने के बाद आनंदीबेन पटेल पहली बार कानपुर आ रही हैं। छत्रपति शाहूजी महाराज विश्वविद्यालय के दीक्षा समारोह में मुख्य अतिथि होंगी और रात्रि विश्राम के बाद दूसरे दिन सचेंडी थाने का निरीक्षण करेंगी। शायद यह शहर में पहली बार होगा कि कोई राज्यपाल किसी थाने […]

login hear

बुढ़वा मंगल पर मंदिरों में आधी रात से ही संकट मोचन के दर्शन करने पहुचे श्रद्धालु

खा़स आर्टिकल सिर्फ आप के लिये।

Loading…

Subscribe Please