लखनऊ विधानसभा के सामने आत्मदाह करने वाली महिला की इलाज के दौरान मौत, एक गिरफ्तार।

लखनऊ विधानसभा के सामने आत्मदाह करने वाली महिला की इलाज के दौरान मौत, एक गिरफ्तार।

लखनऊ विधानसभा के सामने आत्मदाह करने वाली महिला की इलाज के दौरान मौत, एक गिरफ्तार।


लखनऊ में विधानभवन के पास मंगलवार को आत्मदाह करने वाली महिला की अस्पताल में इलाज के दौरान मौत हो गयी. पुलिस ने इस मामले में एक व्यक्ति को गिरफ्तार किया है.

पुलिस उपायुक्त सोमेन बर्मा ने बृहस्पतिवार को बताया कि 'महिला की बुधवार देर रात इलाज के दौरान मौत हो गयी. इस सिलसिले में महाराजगंज के आलोक प्रसाद को आत्महत्या के लिये उकसाने के आरोप में गिरफ्तार किया गया है'.

महिला की पहचान अंज​ली तिवारी उर्फ आयशा के रूप में हुई है. मालूम हो कि अंजलि तिवारी को आत्मदाह के लिये राजस्थान के पूर्व राज्यपाल सुखदेव प्रसाद के बेटे आलोक प्रसाद ने उकसाया था.
आलोक महाराजगंज में अंजलि के पड़ोस में रहता है. उसे मंगलवार रात को लखनऊ पुलिस द्वारा हिरासत में लिया गया था. लखनऊ पुलिस को सीडीआर (कॉल डिटेल रिकॉर्ड) में भी आलोक की ओर से अंजलि को कई बार फोन करने के सबूत मिले हैं. इसी आधार पर आलोक प्रसाद व अन्य आरोपियों के खिलाफ हजरतगंज कोतवाली पुलिस ने आत्महत्या के लिये उकसाने समेत आइपीसी की कई गंभीर धाराओं में एफआइआर दर्ज कर लिया है.

कानपुर देहात से विकाश कटियार की रिपोर्ट !