कांग्रेस कार्यालय शिवगढ़ मैं कांग्रेसियों द्वारा सत्य और अहिंसा के मार्गदर्शक महात्मा गांधी जी की जयंती मनाई गई

कांग्रेस कार्यालय शिवगढ़ मैं कांग्रेसियों द्वारा सत्य और अहिंसा के मार्गदर्शक महात्मा गांधी जी की जयंती मनाई गई

संवाददाता योगेश कुमार पीआर न्यूज़ इंडिया

शिवगढ़/ रायबरेली भारत की प्रेरणा, देश के वैचारिक नेतृत्व को एक नई दिशा देने वाले और पूरे विश्व में सत्य और अहिंसा के मार्गदर्शक राष्ट्रपिता महात्मा गांधी जी की जयंती पर कोटि-कोटि नमन! गांधी जी की प्रतिमा पर पुष्पांजलि अर्पित करने से की,और गांधी जी के जीवन पर.प्रकाश डालते हुये बताया कि,गांधी जी का जनम 2 अकटूबर 1869 को पोरबन्दर मे हुआ था,इनके पिताजी का नाम.करमचंद गांधी और माता का नाम पुतलीबाई था,बिटिश हुकूमत मे इनके पिता पोरबंदर और राजकोट से दीवान. थे,महात्मा गांधी ने अपने सतयागृह के माध्यम से बिटिश शासन को खत्म करने और गरीबों का जीवन सुधारने के लिये सतत परिश्रम किया, उनकी सत्य और अहिंसा की विचारधारा को मारटिन लूथर,तथा नेलसन मंडेला ने भी अपने संघर्ष के लिए गृहण किया, महात्मा गांधी ने अफीका मे भी लगातार 20 सालों तक अनयाय और नस्लीय भेदभाव के खिलाफ अहिंसक रूप से संघर्ष किया, उनकी सादा जीवन पद्धति के कारण उन्हें भारत मे और विदेश मे बहुत प्रसिद्धी मिली, वह बापू के नाम से प्रसिद्ध थे, कांग्रेस कार्यालय शिवगढ़ दिग्विजय सिंह दिनेश यादव पराग प्रसाद रावत ममता सिंह राजेंद्र प्रताप सिंह रामकिशोर मौर्य गोविंद नारायण विवेकानंद चौरसिया अलोक वर्मा रोशन वर्मा रामसुमिरन विष्णु कुमार रामु रावत आदि कांग्रेसी कार्यकर्ता उपस्थित रहे स्वच्छता, सादगी और उच्च कोटि के आदर्शों के साथ आपने इस देश को सदैव सत्मार्ग दिखाया है।