मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 'मिशन शक्ति' का किया शुभारंभ, रामनवमी तक चलेगा महिला सुरक्षा का अभियान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने 'मिशन शक्ति' का किया शुभारंभ, रामनवमी तक चलेगा महिला सुरक्षा का अभियान

मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बलरामपुर की पुलिस लाइन में कार्यक्रम को संबोधित करते हुए मिशन का शुभारंभ किया। इसके पहले उन्होंने जिले के देवीपाटन शक्तिपीठ तुलसीपुर में रात्रि विश्राम के बाद सुबह मां पाटेश्वरी का दर्शन किया।

नवरात्र के मौके पर उत्‍तर प्रदेश में महिलाओं और बालिकाओं की सुरक्षा के लिए विशेष अभियान चलेगा। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने महिलाओं और बच्चों की सुरक्षा के लिए 'मिशन शक्ति' का शुभारंभ बलरामपुर में किया। लखनऊ में राज्‍यपाल आनंदीबेन पटेल ने इस अभियान का शुभारंभ किया। प्रदेश के अन्‍य जिलों में प्रभारी मंत्री इसका शुभारंभ कर रहे हैं। मुख्यमंत्री ने अभियान के तहत खासकर शोहदों को सूचीबद्ध कर उनके विरुद्ध कड़ी कार्रवाई के निर्देश दिए हैं। गोरखपुर में आपरेशन शक्ति की शुरुआत शनिवार को कलेक्ट्रेट परिसर से जागरूकता के लिए मोबाइल एलईडी वैन की रैली रवाना की। प्रभारी मंत्री रमापति शास्त्री इस रैली को हरी झंडी दिखाई। डीएम के. विजयेंद्र पांडियन ने बताया कि प्रदेश सरकार की ओर से महिलाओं की सुरक्षा के लिए विस्तृत कार्ययोजना बनाई गई है। अभियान के दौरान कई कार्यक्रम आयोजित किए जाएंगे। शासन की तरफ से नियुक्त महिला नोडल अधिकारी आज ही विभिन्न विभागों के अधिकारियों के साथ बैठक कर तैयार की गई कार्ययोजना समीक्षा करेंगी। इस अभियान के तहत महिला अपराध से जुड़े अधिक से अधिक मामलों में दोषी को सजा दिलाने पर भी जोर रहेगा। इस कार्यक्रम के अंतर्गत आनलाइन छात्राओं को आत्मरक्षा का प्रशिक्षण प्रदान किया जाएगा।  

180 दिनों तक चलने वाले इस अभियान का प्रथम चरण नवरात्र के प्रथम दिन से शुरू होकर विजयादशमी 25 अक्टूबर तक चलेगा। सीएम के निर्देश पर अभियान की सफलता सुनिश्चित करने एवं निगरानी के लिए आयुक्त एवं सचिव राजस्व परिषद मनीषा त्रिधारिया को जिले का महिला नोडल अधिकारी नियुक्त किया गया है।

हर थाने में महिला टॉप टेन महिला अपराधों की सूची तैयार कर दो माह में चार्ज सीट कर जनपद न्यायाधीश से बात कर फास्ट ट्रैक कोर्ट में ले जाया जाएगा। दहेज, उत्पीड़न, छेड़खानी, पाक्सो, महिलाओं से जुड़े एससी/एसटी एक्ट पर सर्वाधिक जोर होगा।

- 17 अक्तूबर को मोबाइल एलईडी वैन रैली को हरी झंडी दिखाकर रवाना की गई। जिला स्तर पर दो वैन, ब्लाकों के लिए दो वैन और गांवों के लिए चार वैन रवाना की गई
- 18 अक्तूबर को आडियो, वीडियो, मूवी के माध्यम से पाक्सो एक्ट के अंतर्गत बच्चों का यौन हिंसा से बचाव, सहायता पुनर्वास व हिंसा के लिए निर्धारित दंड का प्रचार-प्रसार सार्वजनिक स्थानों पर
- 19 अक्तूबर को लैंगिक समानता, घरेलू हिंसा तथा दहेज कानून के अंतर्गत महिलाओं के प्रति होने वाली हिंसा से बचाव के लिए वेबिनार एवं जागरूकता कार्यक्रम
- 20 अक्टूबर को बेटी बचाओ, बेटी पढ़ाओ व कन्या भ्रूण हत्या रोकने के लिए धार्मिक स्थलों पर नुक्कड़ नाटक के जरिए जागरूक
- 21 अक्तूबर को बाल विवाह की रोकथाम, सहायता को लेकर आनलाइन या आफलाइन चाय पर चर्चा 
- 22 अक्तूबर को कोविड 19 की रोकथाम को लेकर सोशल मीडिया प्लेटफार्म के माध्यम से अभियान
- 23 अक्तूबर को महिलाओं के लिए संचालित कल्याणकारी योजनाओं का प्रचार-प्रसार
- 24 अक्तूबर को विभिन्न योजनाओं से संबंधित कार्ययोजनाओं का अनुमोदन
- 25 अक्तूबर को जिलाधिकारी की ओर से जिला, ब्लाक व गांव स्तर के योद्धाओं का सम्मान