कानपुर सेंट्रल स्टेशन पर आरपीएफ पुलिसकर्मियों को किया जागरूक

कानपुर सेंट्रल स्टेशन पर आरपीएफ पुलिसकर्मियों को किया जागरूक

कानपुर सेंट्रल स्टेशन पर आरपीएफ पुलिस कर्मियों को किया जागरूक

आज दिनांक 27 सितंबर 2020 को रेलवे चाइल्डलाइन कानपुर ने कानपुर सेंट्रल स्टेशन पर आरपीएफ पुलिस कर्मियों के बीच रेलवे चाइल्ड लाइन कानपुर की सेवाओं के प्रति जागरूक करने के उद्देश्य से कार्यक्रम का आयोजन किया गया जिसमें 25 से अधिक अंडर ट्रेनिंग पुलिस स्टाफ व अन्य आरपीएफ पुलिस स्टाफ ने हिस्सा लिया रेलवे लाइन कानपुर के निदेशक कमल कांत तिवारी जी ने बताया कि बाल यौन शोषण आज का अहम मुद्दा है रेलवे स्टेशन कानपुर में विगत 2 वर्षों से मुसीबत में फंसे बच्चों के लिए एवं शोषित बच्चों को न्याय दिलाने के लिए संचालित रेलवे चाइल्ड लाइन कानपुर प्रयाग रेलवे चालान कानपुर के कार्यकर्ताओं ने आरपीएफ पुलिस कर्मियों के बीच उन्हें जागरूक करने हेतु कार्यक्रम का आयोजन किया कार्यक्रम के दौरान रेलवे चाइल्ड लाइन समन्वयक गौरव सचान ने उपस्थित आरपीएफ पुलिस कर्मियों को रेलवे चाइल्ड लाइन के प्रति जागरूक करें उन्हें बाल यौन शोषण का विरोध करने एवं बच्चों के साथ हो रहे अन्याय की सूचना रेलवे चाइल्ड लाइन के निशुल्क नंबर 1098 पर देने की अपील की गई रेलवे चाइल्ड लाइन कानपुर 1098 के माध्यम से अधिक से अधिक बच्चों की सहायता एवं उन्हें शोषण से बचाया जा सके ताकि समाज के बच्चों के साथ हो रहे शोषण से उन्हें मुक्त कराया जा सके साथ ही वहां पर मौजूद लोगों को विस्तार से बताया गया कि वह घर से भटके व जरूरतमंद बच्चों की मदद के लिए आगे आए और उनकी सहायता के लिए 24 घंटे किसी भी समय चाइल्ड लाइन 1098 निशुल्क नंबर डायल कर बच्चे को सुरक्षा व संरक्षण प्रदान कर सकते हैं जिसके साथ ही कोविड-19 के प्रति जागरूक रहने की अपील की गई इस कार्यक्रम में मुख्य रूप से आरपीएफ पुलिस स्टाफ व आरपीएफ अंडर ट्रेनिंग स्टाफ आरपीएफ एसआई राहुल यादव चाइल्डलाइन कानपुर के निदेशक श्री कमल कांत तिवारी रेलवे चाइल्ड लाइन समन्वयक गौरव सचान काउंसलर मंजू लता दुबे टीम सदस्य प्रदीप पाठक दिनेश सिंह उमाशंकर रीता सचान संगीता सचान अमिता तिवारी अनामिका मिश्रा वह 25 से अधिक अंडर ट्रेनिंग आरपीएफ महिला पुलिस कर्मी उपस्थित रहे।