हल्की बारिश होते ही जलाशय में तब्दील हो जाता है भवानीगढ़ चौराहा*

*हल्की बारिश होते ही जलाशय में तब्दील हो जाता है भवानीगढ़ चौराहा* *रिपोर्टर योगेश कुमार*

● गड्ढों में तब्दील शिवगढ़-बहदाकला सम्पर्क मार्ग, चलना हुआ दुश्वार

● अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा शिवगढ़- बहुदा कला सम्पर्क मार्ग

● दर्जनों शिकायतों के बावजूद हालत जस की तस

● जनप्रतिनिधियों को लग्जरी गाड़ियों में नहीं होता झटकों का एहसास

रायबरेली। वीवीआईपी जनपद कहे जाने वाले रायबरेली जिले का शिवगढ़ – बहुदा कला सम्पर्क मार्ग अपनी बदहाली पर आंसू बहा रहा है, जिसकी कोई सुध लेने वाला नहीं है। पूरी तरह से गड्ढों में तब्दील हो चुके इस सम्पर्क मार्ग को देखकर यह अंदाजा लगाना मुश्किल हो जाता है कि गड्ढों में सड़क है या सड़क में गड्ढे। इस सम्पर्क मार्ग पर साधन से चलना तो दूर पैदल चलना भी किसी चुनौती से कम साबित नहीं होता। आलम यह है कि हल्की बारिश होते ही शिवली का अवधेश नगर व भवानीगढ़ चौराहा सहित समूचा सम्पर्क मार्ग जगह-जगह जलाशय में तब्दील हो जाता है। जिसके चलते राहगीरों को गड्ढों का अंदाजा नहीं लग पाता और राहगीर गिरकर दुर्घटना का शिकार होते रहते हैं। किन्तु विडम्बना है कि पीडब्ल्यूडी विभाग के जिम्मेदार अधिकारी आए दिन होने वाली दुर्घटनाओं से सबक लेने के बजाय मूकदर्शक बने रहते हैं। विदित हो कि सूबे के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने प्रदेश की कमान संभालते ही प्रदेश की सड़कों को गड्ढा मुक्त करने का दावा किया था। किन्तु जिम्मेदार अधिकारियों की उदासीनता के चलते प्रदेश सरकार का दावा हवा हवाई साबित हो रहा है। शिवगढ़ – बहुदा कला सम्पर्क मार्ग की मरम्मत के लिए क्षेत्र के लोगों ने संबंधित अधिकारियों से दर्जनों बार शिकायत की किन्तु नतीजा शून्य रहा जिसको लेकर क्षेत्रवासियों में पीडब्लूडी विभाग के प्रति गहरा रोष व्याप्त है। कांग्रेस के प्रदेश सचिव सुशील पासी, सपा बछरावां विधानसभा अध्यक्ष राकेश त्रिवेदी, सपा जिला उपाध्यक्ष शिवशंकर सिंह, प्रधान प्रतिनिधि अंकित वर्मा, आलोक चौधरी, कांग्रेस जिला संगठन सचिव दिनेश यादव, रामकिशोर, बृजेश कुमार रावत, जगजीवन, केदार पासी आदि लोगों की माने तो अदम गोंडवी की ये पंक्तियां ‘तुम्हारी नजरों में गांव का मौसम गुलाबी है, मगर ये दावे झूठे हैं, ये आंकड़े किताबी हैं।’ बिल्कुल चरितार्थ साबित हो रही हैं। प्रदेश सरकार की नजरों में भले कागजों पर सड़के गड्ढा मुक्त हो गई हो किंतु जो जमीनी हकीकत है वह किसी से छुपी नहीं है। इस सम्पर्क मार्ग से अक्सर जनप्रतिनिधियों के साथ ही वीआईपी हस्तियां गुजरती रहती है किन्तु उनकी लग्जरी गाड़ियों में उन्हें झटकों का ऐहसास नहीं होता। यही कारण है कि उन्हें क्षेत्रवासियों का दर्द दिखाई नहीं पड़ता। इस बाबत जब पीडब्ल्यूडी विभाग के अवर अभियंता से बात की गई तो उन्होंने बताया कि रोड़ सेंशन के लिए भेज दी गई है। सेंशन होते ही रोड़ बनना शुरू हो जाएगी। *रायबरेली,लखनऊ,बाराबंकी,अमेठी मुख्यालय को जाता है शिवगढ़-बहुदाकला सम्पर्क मार्ग* गौरतलब हो कि शिवगढ़- बहुदा कला सम्पर्क मार्ग शिवगढ़ क्षेत्र को सीधे रायबरेली मुख्यालय से जोड़ने के साथ ही राजधानी लखनऊ, बाराबंकी और अमेठी मुख्यालय को जाता है। इसी सम्पर्क मार्ग से होकर लोग शिवगढ़ राजमहल, सामुदायिक स्वास्थ्य केंद्र शिवगढ़, श्री बरखण्डी महाविद्यालय शिवगढ़, श्री बरखण्डी विद्यापीठ इण्टर कॉलेज, श्री शिवकुमार त्रिवेदी कैरियर प्लस इण्टर कॉलेज, केंद्रीय विद्यालय, आईटीआई कॉलेज, तहसील मुख्यालय को जाते हैं। जिसके चलते इस सम्पर्क मार्ग पर दिनभर राहगीरों का आवागमन रहता है।