गर्ल्स हॉस्टल मे एक छात्रा ने लगाई फांसी।

Public Route Share

शासकीय उत्कृष्ट सीनियर गर्ल्स हॉस्टल के कमरे में बुधवार की देर शाम 11वीं की एक छात्रा ने फांसी के फंदे पर झूलकर जान दे दी। इससे गुस्साए छात्र-छात्राओं ने गुरुवार को सुबह चौबे तिगड्डा पर जाम लगा दिया। इसके पहले उन्होंने रात 9 बजे हॉस्टल के सामने हाइवे जाम कर दिया था। 

छात्रा के परिजनों का आरोप है कि चोरी के आरोप लगाए जाने के कारण छात्रा परेशान थी। छात्रा के परिजन हॉस्टल वार्डन को इसका जिम्मेदार ठहरा रहे हैं। उन्होंने महिला वार्डन के खिलाफ प्रकरण दर्ज कराने की मांग करते हुए रात 9 बजे छात्रावास के सामने हाईवे पर बैठकर प्रदर्शन शुरू कर दिया था।


छात्रा का नाम रिचा अहिरवार वह 11वीं में पढ़ाई कर रही थीं। वह सीनियर गर्ल्स हॉस्टल महोबा रोड़ में रहती थीं। छात्राओं ने हॉस्टल वार्डन सुशीला पाठक और उनके पति पर प्रताड़ित करने का आरोप लगाया। वे वार्डन के खिलाफ प्रकरण दर्ज कराए जाने की मांग कर रही हैं। छात्राओं का कहना की रिचा पर हॉस्टल वार्डन ने चोरी का आरोप लगाया था। इसी वजह से रिचा ने हॉस्टल के कमरे में फांसी लगा ली। गुस्साई छात्राएं 2 घंटे से जाम लगाकर बैठी हैं। 

मृतिका के पिता ने बताया कि पिछले दिनों मेरी बेटी रिचा धोखे से एक छात्रा का पेंट कपड़े सुखाने के दौरान ले आई। इस बात को लेकर बार-बार छात्राएं परेशान कर रही थीं। इस बात को लेकर छात्रावास की अधीक्षिका से भी शिकायत की, पर कुछ नहीं हुआ। बल्कि अधीक्षिका हर बार मेरी बेटी को परेशान करती थीं। सीनियर छात्राएं रैगिंग करते हुए बेटी से झाड़ू-पोंछा करवाती थीं। लगातार परेशान करने से दुखी होकर उनकी बेटी ने फांसी लगाकर आत्म हत्या की है।

Loading...
Loading...


मामले में हॉस्टल वार्डन सुशीला पाठक ने छात्रा की बड़ी बहन पर आरोप लगाते हुए कहा है कि घटना के पहले उसकी बड़ी बहन ने किसी बात को लेकर उसे डांटा और मारपीट भी की थी। इस बात से दुखी होकर छात्रा ने आत्महत्या की है।

Loading...
Loading...
Author Image
jaya verma

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *