एनडीए बहुमत से होगी दूर लेकिन जीत करीब: सर्वे

Please Share

लोकसभा चुनाव होने वाले हैं, इससे पहले चुनाव से संबंधित सर्वे आने शुरू हो गए हैं. हाल ही में एक अंग्रेजी न्यूज चैनल द्वारा किए गए सर्वे के मुताबिक एनडीए सबसे बड़ा दल बनकर सामने आ सकता है लेकिन बहुमत से दूर रहेगा. सर्वे के अनुसार कांग्रेस की यूपीए की हालत इस बार भी कुछ खास नजर नहीं आती दिखाई दे रही है.

यह सर्वे किया है टाइम्स नाऊ और सर्वे एजेंसी वीपीएम ने. इनके ओपेनियन पोल में अनुमान लगाया गया है कि एनडीए को 252 सीटें मिलेंगी जबकि यूपीए को 147 सीटें मिलने का अनुमान है. सर्वे के मुताबिक क्षेत्रीय और बाकी राष्‍ट्रीय पार्टियों को 144 सीट मिल सकती है. ज्ञात हो कि बीते 2014 के लोकसभा चुनाव में 543 सदस्‍यों वाली लोकसभा में बीजेपी ने बहुमत हाशिल की थी, जिसमें बीजेपी ने 272 से 10 सीट ज्‍यादा 282 लाकर जीत का पताका लहराया था. इस लिहाज से देखा जाए तो गठबंधन को कुल 336 सीटें प्राप्त हुई थी.

सर्वे के मुताबिक बीजेपी को ओडिशा और पश्चिम बंगाल में काफी फायदा होगा. इसके तहत बंगाल में बीजेपी को नौ और ओडिशा में 13 सीटें मिल सकती है. पार्टी ने इन दोनों राज्‍यों में पूरा जोर लगा रखा है. 2014 में बीजेपी को बंगाल में दो और ओडिशा में एक सीट मिली थी.

सर्वे के अनुसार गुजरात और महाराष्‍ट्र में बीजेपी का दबदबा बना रहेगा. महाराष्‍ट्र में उसे शिवसेना के साथ 48 में से 43 और गुजरात में 26 में 24 सीट मिल सकती है. पिछली बार गुजरात में बीजेपी ने सभी 26 सीटें जीती थी.

वहीं दूसरी तरफ यूपी में भारतीय जनता पार्टी को झटका लगा सकता है. सर्वे में यह सामने आया है कि बीजेपी की एनडीए उत्तर प्रदेश महज 27 सीटों से ही संतोष करना पड़ सकता है. ऐसा इसलिए माना जा रहा है क्योंकि सपा और बसपा का गठबंधन बीजेपी को बड़ा नुकसान पहुंचा सकता है. यह गठबंधन 51 सीट जीत सकता है. 2014 में बीजेपी ने यूपी में 71 सीट जीती थी.

मध्‍य प्रदेश, राजस्‍थान और छत्‍तीसगढ़ में बीजेपी को हार मिलने के बावजूद सर्वे के मुताबिक बीजेपी को सीटों का नुकसान तो हो सकता है लेकिन सबसे बड़ी पार्टी बनकर यही उभरेगी. राजस्‍थान में उसे 25 में से 17, एमपी में 29 में से 23 और छत्‍तीसगढ़ में 11 में से पांच सीट मिल सकती है. बिहार में भी महागठबंधन एनडीए को झटका दे सकता है. यहां पर एनडीए को 25 जबकि राजद, कांग्रेस और रालोसपा के महागठबंधन को 15 सीट मिल सकती है.

सर्वे में अनुमान लगाया गया है कि नागरिकता बिल के बावजूद एनडीए को पूर्वोत्‍तर में फायदा होगा. यहां की कुल 25 में से 17 सीटें उसके खाते में जा सकती है.

दक्षिण भारत के राज्‍यों में बीजेपी के लिए अच्‍छी खबर नहीं है. यहां पर कांग्रेस और अन्‍य स्‍थानीय दलों का पलड़ा भारी रहेगा. सर्वे में बताया गया है कि तमिलनाडु में कांग्रेस और डीएमके मिलकर 39 में से 35 सीट जीत सकते हैं. केरल में बीजेपी अपना खाता खोल सकती है लेकिन कांग्रेस नेतृत्व वाला एलडीएफ गठबंधन 16 सीटों के साथ सबसे आगे रहेगा.

कर्नाटक में मुकाबला बराबरी का रह सकता है. वहीं आंध्र प्रदेश में चंद्रबाबू नायडू की टीडीपी को झटका लग सकता है. वाईएसआर कांग्रेस यहां बाजी मार सकती है. तेलंगाना में टीआरएस का दबदबा रहने की संभावना जताई गई है.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Translate »