अपराधउत्तर प्रदेश

शिक्षक हत्याकांड: कॉल डिटेल में नहीं मिली बातचीत…न ही मिली लोकेशन, हत्यारोपी पत्नी और प्रेमी से पूछताछ जारी

कानपुर के पनकी थाना क्षेत्र में शिक्षक दयाराम की जिंदा जलाकर हत्या करने के मामले की जांच उलझ गई है। मृतक शिक्षक के भाई अनुज ने दावा किया था कि वारदात में उसकी भाभी व उसका प्रेमी शामिल है। तहरीर के आधार पर पुलिस ने हत्या व षडयंत्र की धारा में रिपोर्ट भी दर्ज की है।

साथ ही अनुज ने एक वायस रिकॉर्डिंग भी पुलिस को मुहैया कराई थी, जिसमें दावा किया था कि मरने से पहले दयाराम ने उसे फोन कर अधिवक्ता के साथ पत्नी और उसके प्रेमी ने कमरे में बंदकर आग लगाने की बात कही थी, लेकिन पुलिस की जांच में मृतक की पत्नी और उसके प्रेमी का लोकेशन घटनास्थल पर नहीं मिली है।
न ही कॉल डिटेल में घटना के दिन हत्यारोपी अधिवक्ता व मृतक शिक्षक की पत्नी के बीच बातचीत की पुष्टि हुई है। ऐसे में पुलिस अब वायस रिकॉर्डिंग की जांच रिपोर्ट आने का इंतजार रही है। मूलरूप से फतेहपुर के देवरी गांव निवासी दयाराम सोनकर (48) कानपुर देहात के रसधान स्थित ग्राम विकास इंटर कॉलेज में समाजशास्त्र के शिक्षक थे।

निजी स्कूल के बंद कमरे में जला हुआ मिला था शव
बर्रा आठ में परिवार के साथ रहते थे। पत्नी संगीता के ढाबा संचालक पवन से संबंधों के चलते अपने छोटे भाई अनुज की रायपुर स्थित ससुराल में रह रहे थे। रविवार को दयाराम का शव पनकी थाना क्षेत्र के पतरसा गांव में वकील संजीव कुमार के निजी स्कूल के बंद कमरे में जला हुआ शव मिला।

अकेले हत्या करने का जुर्म कबूला
मृतक के भाई अनुज ने दयाराम की पत्नी संगीता, उसके प्रेमी पवन व वकील संजीव पर हत्या का आरोप लगाकर रिपोर्ट दर्ज कराई। हत्यारोपी संजीव के अपनी पत्नी निशा और मृतक के बीच संबंध होने के शक में अकेले हत्या करने का जुर्म कबूल करने पर पुलिस ने उसे जेल भेज दिया था। वहीं, नामजद हत्यारोपी मृतक की पत्नी संगीता और उसके प्रेमी पवन को हिरासत में लेकर पुलिस पूछताछ कर रही है।

आरोपियों से चल रही पूछताछ
एसीपी पनकी टीबी सिंह ने बताया कि कॉल डिटेल में हत्यारोपी अधिवक्ता और मृतक की पत्नी संगीता के बीच घटना के दिन मोबाइल पर बातचीत होने की बात सामने नहीं आई है। न ही संगीता और पवन की लोकेशन ही घटनास्थल व उसके आसपास पाया गया है। फिलहाल संगीता और पवन से पूछताछ चल रही है।

फोरेंसिक जांच के लिए भेजी जाएगी डायरी
हत्यारोपी संजीव की डॉयरी को हैंडराइटिंग मिलान के लिए जल्द ही फोरेंसिक लैब भेजा जाएगा। पुलिस के मुताबिक वायस रिकार्डिंग की जांच रिपोर्ट जल्द दिए जाने के लिए भी फोरेंसिक विभाग के अफसरों को पत्र भी भेजा जाएगा ताकि जल्द वायस रिकार्डिंग व हैंड राइटिंग एक्सपर्ट की रिपोर्ट जल्द विवेचक को प्राप्त हो सके।

हत्यारोपी अधिवक्ता को भेजा जा चुका है जेल
मामले में पुलिस ने मंगलवार को हत्यारोपी अधिवक्ता सुनील कुमार कोर्ट में पेश किया। वहां से न्यायिक हिरासत में उसे जेल भेज दिया दिया। वहीं, पुलिस शिक्षक की हत्यारोपी पत्नी संगीता व उसके कथित प्रेमी पवन से पूछताछ कर रही है। साथ ही दोनों की घटना के वक्त की लोकेशन व कॉल डिटेल देख रही है।

Related Articles

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button
X Alleges Indian Govt Ordered Account Suspension | Farmers Protest | Khalistani कहने पर BJP MLA पर भड़के IPS अधिकारी | Mamata Banerjee | TMC दिल्ली के अधिकारियों को डरा रही है BJP #kejriwal Rahul Gandhi ने बोला BJP पर हमला, ‘डबल इंजन सरकार मतलब बेरोज़गारों पर डबल मार’