उत्तर प्रदेश

लालगंज मंडी समिति विवाद में कुर्मी समाज ने जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए गालियां देने वाले रमेश सिंह को गिरफ्तार करने के लिए मुख्यमंत्री को लिखा पत्र

Spread the love
482 Views

अनुराग प्रताप सिंह

रायबरेली। प्रदेश सरकार लगातार अपराध पर अंकुश लगाने की बात कह रही है। विपक्ष भी लगातार प्रदेश में घट रही अपराधिक घटनाओं को लेकर सरकार के ऊपर हमलावर है। लेकिन जब सरकार की मंशा के अनुसार कार्य नहीं होगा तो इस तरह अपराध का घटित होना लाजमी है। क्योंकि लालगंज मे जिस तरह कृषि मंडी के एक बाबू को उसके कार्यालय में गाली गलौज और फोन पर जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए एक दबंग नेता ने मां बहन की गालियां दी है । उस पर पुलिस द्वारा अभी तक किसी भी प्रकार की कार्यवाही ना होने से साफ पता चलता है कि कानून अब केवल गरीब लोगों के लिए रह गया है बाकी सभी को अपराध करने की पूरी छूट मिली हुई है । कृषि मंडी में एक बाबू के साथ गाली गलौज करने की घटना पर कुर्मी समाज में कड़ा आक्रोश व्यक्त किया है । जिला संयोजक ने पुलिस अधीक्षक रायबरेली और मुख्यमंत्री उत्तर प्रदेश सरकार को पत्र लिखकर इस मामले में तत्काल कार्रवाई किए जाने की मांग की है ।पत्र में जिला संयोजक आरपी चौधरी ने जिला अधिकारी को पत्र लिखकर समुचित कार्रवाई किए जाने की मांग की है। उन्होंने बताया है कि घटना दिनांक-21 जुलाई 2020 की है। रात के 08-30 पर कृषि उत्पादन मण्डी समिति लालगंज, रायबरेली लिपिक प्रेम बाबू ने रमेश सिंह निवासी थाना लालगंज को टेलीफोन कर पूछा था कि नेताजी आपने हमें अभी फोन किया था मैं नहा रहा था इसलिए बात न हो सकी। रमेश सिंह को बाबू ने बताया कि टेलीफोन मेरे लड़के ने उठाया था। एक आध मिनट तो बात हुई उसके बाद रमेश सिंह इतना उत्तेजित हो गये कि उन्होंने लिपिक को जातिसूचक शब्दों का प्रयोग करते हुए मां बहन की भद्दी भद्दी गालियां दी और जात को लेकर अपशब्दों का कई बार प्रयोग किया। यह वार्तालात 06 मिनट 52 सेकेण्ड तक चला और इस बीच रमेश सिंह लिपिक को अनेको बार माँ की गाली तथा जातिसूचक अपशब्दों का प्रयोग किया। लिपिक ने घटना की
प्रथम सूचना रिपोर्ट दिनांक-22 जुलाई 2020 को रमेश सिंह के विरुद्ध दर्ज कराई। दिनांक 22 जुलाई को ही घटना का रजिस्टर्ड पत्र पुलिस अधीक्षक रायबरेली को उपलब्ध कराया था। कल दिनांक 28.07.2020 को थाना लालगंज से सम्पर्क करने पर बताया गया कि कार्यवाही अभी लम्बित है। शिकायतकर्ता /पीडित लिपिक ने टेलीफोन पर हुए वार्तालाप पेन ड्राइव भी थाने को उपलब्ध कराया है। हमने अपने पक्ष से भी जानकारी जुटाई तो पता चला कि रमेश सिंह एक दबंग व्यक्ति है अपने को किसान नेता बताता है और क्षेत्र में आम जनता के साथ-साथ सरकारी कर्मचारियों से भी उन्हें ब्लैकमेल कर पैसे वसूलता है। लिपिक प्रेमबाबू और रमेश सिंह का मण्डी समिति में लेन देन का क्या विवाद है । यह जॉच का विषय है

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *